अफजल और भट्ट की बरसी पर 3 दिवसीय हड़ताल आज

  • अफजल और भट्ट की बरसी पर 3 दिवसीय हड़ताल आज
You Are HereNational
Sunday, February 09, 2014-9:19 AM

श्रीनगर: कश्मीर में 9 से 11 फरवरी तक हड़ताल का आह्वान अफजल गुरु तथा मकबूल भट्ट की बरसी मनाने के लिए किया जा चुका है। दोनों को फांसी दी गई थी। 9 फरवरी को अफजल गुरु को पिछले साल फांसी दी गई थी, वहीं मकबूल भट्ट को 11 फरवरी, 1984 को फांसी हुई थी।

गुरु और मकबूल की बरसी के मद्देनजर सरकार ने राजधानी श्रीनगर सहित कश्मीर के प्रमुख शहरों में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए धारा-144 को लागू कर दिया है। एक अधिकारी ने कहा कि श्रीनगर के पुराने शहर और सिविल लाइन के कुछ इलाकों में लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध रहेगा।

उन्होंने कहा कि आदेश के अनुसार 4 या 4 से ज्यादा व्यक्ति एक साथ नहीं चल सकते हैं। असल में 30 साल पहले जे.के.एल.एफ . संगठन के संस्थापक सदस्य मकबूल भट्ट को 11 फ रवरी के दिन तिहाड़ जेल में फांसी दी गई थी। वहीं अब मकबूल भट्ट के साथ-साथ अफजल गुरु के शव की भी मांग जोर पकड़ चुकी है। इस बार फिर कश्मीरी के अलगाववादी नेताओं ने शव प्राप्त करने की खातिर हड़ताल व भूख हड़ताल का सहारा लिया है। जे.के.एल.एफ . के सदस्यों तथा मकबूल भट्ट के परिजनों को उम्मीद थी कि फांसी के उपरांत उसके शव को उन्हें सौंप दिया जाएगा, पर अभी तक शव उन्हें नहीं मिला है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You