पांच साल का एक-एक मिनट विकास कार्यों में लगेगा: चौहान

  • पांच साल का एक-एक मिनट विकास कार्यों में लगेगा: चौहान
You Are HereNational
Sunday, February 09, 2014-10:02 AM

शाजापुर: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि वे राजनीति की परिभाशा बदलकर पांच साल के कार्यकाल का एक एक मिनट विकास कार्यों में लगाना चाहते हैं। चौहान आज यहां आओ बनाएं अपना मध्यप्रदेश सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में असली राजा मुख्यमंत्री नहीं जनता है। वे भी मुख्यमंत्री कम जनता के सेवक अधिक हैं। चौहान ने कहा कि विकास की योजनाएं अब बंद कमरों में नहीं बल्कि आम जनता को भागीदार बनाकर बनाई जाएगी।

 

उन्होंने कहा कि खेती को फायदे का धंधा बनाने के लिये स्थायी रूप से खाद्य प्र-संस्करण इकाइयां शाजापुर जिले में स्थापित की जाएगी। उन्होंने विशेषकर संतरे की प्रोसेसिंग के लिए पोलायकलां में उद्योग इकाइयां स्थापित करने की बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेती के साथ साथ छोटा मोटा कार्य करने वाले लोगों की आमदनी कैसे बढ़े इसके प्रयास होंगे। गरीबों को एक रुपये किलो गेहूं के साथ ही अब चावल भी एक रुपये किलो देना शुरू कर दिया गया है। उन्होंने रोटी कपड़ा-मकान की मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करने की सरकार की प्रतिबद्धता को रेखांकित किया।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश को अग्रणी बनाना है तो हर वर्ग के विकास की योजना बनानी होगी। बेटी है तो दुनिया है बेटी के बिना सृष्टि नहीं चल सकती है। प्रदेश सरकार ने स्थानीय संस्थाओं में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण किया है। शासकीय सेवाओं में भी महिलाएं बड़ी संख्या में शामिल हो रही हैं। अकेले शिवराज सिंह चौहान मध्यप्रदेश नहीं बना सकते इसके लिए सभी को मिलकर आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि  डॉक्टर ईमानदारी से इलाज अभिभाषक अपनी ड्यूटी और शिक्षक स्कूल में नियमित पढाएं तभी हम मध्यप्रदेश का निर्माण कर पाएंगे।

 

उन्होंने आम जन से मंगल अवसर पर पौधारोपण करने का आव्हान किया। प्रत्येक व्यक्ति पौधा लगाए बारिश का पानी रोके हर बच्चा स्कूल जाए और समाज मिलकर गांव को नाशा मुक्त बनाए तभी बात बनेगी। चौहान ने घोषणा की कि पंचायत चुनाव में जो ग्राम पंचायत निर्विरोध निर्वाचन करेगी उस ग्राम पंचायत को पांच लाख रुपये की राशि विकास के लिये प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री ने सम्मेलन की शुरुआत कन्या पूजन द्वारा की। उन्होंने जिले में 11 करोड़ 37 लाख रुपये की लागत के विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमि पूजन एवं लोकार्पण किया।

 

सम्मेलन स्थल पर विकास कार्यों पर आधारित प्रदर्शनी भी लगाई गई। जिले के प्रभारी और स्कूल शिक्षा मंत्री पारस जैन ने कहा कि सरकार ने मालवा को सूखे से बचाने के लिये नर्मदा क्षिप्रा लिंक का जो प्रण किया था वो पूरा होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि आगामी 1 मार्च से साढ़े पांच करोड़ जनता को एक रुपये किलो गेहूं एवं एक रुपये किलो चावल की सौगात दी जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You