बिलों के मुद्दे पर केजरीवाल के आग्रह पर विचार कर सकता है गृह मंत्रालय

  • बिलों के मुद्दे पर केजरीवाल के आग्रह पर विचार कर सकता है गृह मंत्रालय
You Are HereNational
Sunday, February 09, 2014-4:09 PM

नई दिल्ली: गृह मंत्रालय दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उस आग्रह पर विचार कर सकता है जिसमें उन्होंने 12 वर्ष पुराने आदेश को वापस लेने क आग्रह किया है जिसमें किसी भी विधेयक को दिल्ली विधानसभा में पेश किये जाने से पहले केंद्र की मंजूरी प्राप्त करना जरूरी बनाया गया है।

अधिकारियों ने कहा कि 2002 के आदेश को बिना कानूनी विचार विमर्श को रद्द नहीं किया जा सकता है और गृह मंत्रालय इस मामले पर रूख जाने के लिए विधि मंत्रालय को भेज सकता है।  उन्होंने कहा कि चूंकी आदेश वर्तमान सरकार ने पारित नहीं किया है, इस आदेश के संबंध में कोई भी निर्णय करने से पहले कानूनी पहलुओं की जांच परख की जानी चाहिए।

अधिकारी ने कहा, ‘‘ दिल्ली के मुख्यमंत्री के आग्रह पर निश्चित तौर पर विचार किया जायेगा लेकिन उपयुक्त कानूनी सलाह और प्रक्रियाओं का पालन किया जायेगा।’’  बहरहाल, महाराष्ट्र से दिल्ली लौटने के बाद गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे इस बारे में अंतिम निर्णय करेंगे।  शिंदे को लिखे पत्र में केजरीवाल ने कहा कि आदेश को वापस लिया जाना चाहिए क्योंकि यह संविधान के खिलाफ है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You