राजनयिकों की संख्या दोगुनी करेगा भारत

  • राजनयिकों की संख्या दोगुनी करेगा भारत
You Are HereNational
Monday, February 10, 2014-12:44 AM
नई दिल्ली  (अजीत के. सिंह): वैश्विक गतिविधिया को देखते हुए केंद्र सरकार अगले कुछ वर्षों में अपने राजनयिकों की संख्या दोगुनी करने वाली है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले दिनों प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में यू.पी.ए. सरकार की बैठक में विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने अपनी इस योजना के बारे में बैठक को अवगत कराया। खुर्शीद ने कहा कि वे आश्वस्त हैं कि अगले कुछ वर्षों में राजनयिकों की संख्या दोगुनी करने में सफल होंगे।
 
अभी भारतीय राजनयिकों की संख्या 845 है, जो कि चीन, ब्राजील और रूस जैसे देशों के राजनयिकों की संख्या से काफी कम है। भारतीय विदेश सेवा के लिए चयनित होने वाले लोगों को राजनयिक बनाया जाता है। अभी हर साल भारत में औसतन 20 आई.एफ.एस. ऑफिसर का चयन यू.पी.एस.सी. द्वारा संचालित सिविल सर्विसेज परीक्षा के तहत होता है।
 
राजनयिकों की संख्या बढ़ाने के लिए 2008 में भी एक योजना बनी थी लेकिन वह सफल नहीं हो पाई। उस समय यह तय किया गया था कि सरकार 320 नए राजनयिकों की नियुक्ति करेगा। इसके लिए 10 सालों तक हर साल 32 आई.एफ.एस. अधिकारियों का चयन किया जाना था लेकिन योग्य कैंडिडेट नहीं मिल पाए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You