हिम्मत है तो इस्तीफा दें केजरीवाल: रविशंकर प्रसाद

  • हिम्मत है तो इस्तीफा दें केजरीवाल: रविशंकर प्रसाद
You Are HereNational
Monday, February 10, 2014-5:24 PM

नई दिल्ली:  राज्य विधानसभा द्वारा जन लोकपाल विधेयक पारित नहीं करने की सूरत में इस्तीफे की धमकी देने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को आडे हाथ लेते हुए भाजपा ने आज कहा कि केजरीवाल भागने का रास्ता तलाश रहे हैं क्योंकि सरकार उनसे चल नहीं पा रही है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता रवि शंकर प्रसाद ने यहां संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘वह :केजरीवाल: भ्रष्ट कांग्रेस के कंधों पर सवार हैं और जन लोकपाल विधेयक पारित करने की कोशिश कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा लगता है कि वे :आप: सरकार चलाने में अक्षम हैं और इसीलिए भागने का रास्ता खोज रहे हैं।’’

केजरीवाल ने धमकी दी है कि यदि राज्य विधानसभा में अन्य दलों के समर्थन के अभाव में जन लोकपाल विधेयक पारित नहीं हो पाता तो वह इस्तीफा दे देंगे। भाजपा के एक अन्य नेता प्रकाश जावडेकर ने कहा, ‘‘मैं हैरत में हूं ... आपको इस्तीफे के लिए किसी को धमकी देने की आवश्यकता नहीं है। इस्तीफे का पत्र लिखिये और पद से हट जाइये।’’

केजरीवाल ने आज दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग से मुलाकात कर जन लोकपाल विधेयक से जुडे विविध मुददों पर विचार विमर्श किया। भ्रष्टाचार रोकने के लिए जन लोकपाल विधेयक लाना आम आदमी पार्टी के मतदाताओं से किये गये चुनावी वायदों में से एक है। कांग्रेस और भाजपा कहते आये हैं कि 13 फरवरी से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र में विधेयक पेश करने से पहले दिल्ली सरकार को केन्द्रीय गृह मंत्रालय से मंजूरी लेनी चाहिए।


वहीं कांग्रेस नेता जेपी अग्रवाल ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल अब इस्तीफे की बात न करें। उन्होंने जनता से जो वायदे किए हैं, उन्हें पूरे करें। अग्रवाल ने कहा कि शीला दीक्षित की जांच को लेकर कांग्रेस में कोई डर नहीं है। लेकिन केजरीवाल इस तरीके से कीचड़ न उछालें।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You