नए मोबाइल हैंडसेटों में SOS बटन अनिवार्य होगा!

  • नए मोबाइल हैंडसेटों में SOS बटन अनिवार्य होगा!
You Are HereNcr
Monday, February 10, 2014-5:24 PM

नई दिल्ली: प्रतिदिन हो रहे महिलाओं के साथ रेप,ब्लात्कार की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय सभी नए मोबाइल हैंडसेटों में अनिवार्य रूप से ‘एसओएस’ के बटन का प्रावधान करने के प्रस्ताव पर काम कर रहा है। इसे अमल में लाने के लिए सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के द्वारा काफी प्रयास किया जा रहा है। सभी मोबाइल हैंडसेटों में ‘एसओएस’ का बटना होगा और महिलाएं किसी विपत्ति में फंसने पर इसके इस्तेमाल से तुरंत सहायता पा सकती हैं।

यह प्रस्ताव महिलाओं की सुरक्षा के लिए ‘निर्भया योजना’ के तहत लाया जा रहा है। महिला और बाल विकास राज्य मंत्री कृष्णा तीरथ ने सोमवार को राज्यसभा में इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्रालय उपयुक्त सॉफ्टवेयर की मुफ्त डाउनलोडिंग के जरिये मौजूदा हैंडसेटों में ‘एसओएस’ अलर्ट सिस्टम प्रदान करने के प्रस्ताव पर भी काम कर रहा है।

उन्होंने बताया कि इस योजना में महिलाओं की कॉल तथा मजबूरी में की गई अन्य कॉल पर कार्रवाई करने और उन्हें त्वरित सहायता सुनिश्चित करने के लिए भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) आधारित कॉल ट्रैकिंग और जीपीएस आधारित पुलिस वाहन प्रेषण प्रणाली (पुलिस व्हीकल डिस्पैच सिस्टम) के लिए एक एकीकृत कंप्यूटर सहायतायुक्त प्रेषण (सीएडी) प्लेटफार्म की स्थापना के लिए प्रस्ताव को अनुमोदन दिया जा सकता है।

निर्भया निधि के लिए 1000 करोड़ रुपये की धनराशि निश्चित की गई है। इसको लागू करने में प्रगति की वित्त मंत्री के स्तर पर समीक्षा की जा रही है। अगर ‘एसओएस’ सिस्टम मोबाइलों में लागू हो जाता है तो पुलिस को अपराध से निपटने में काफी मदद मिलेगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You