नौकरानी हत्याकांड: 22 फरवरी को दलीलें सुनेगी अदालत

  • नौकरानी हत्याकांड: 22 फरवरी को दलीलें सुनेगी अदालत
You Are HereNational
Monday, February 10, 2014-7:36 PM

नई दिल्ली: अपनी नौकरानी की हत्या के मामले में बसपा सांसद धनंजय सिंह और उनकी पत्नी जागृति सिंह के खिलाफ आरोप तय करने के लिए 22 फरवरी को यहां की अदालत दलील सुनेगी। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश लोकेश कुमार शर्मा ने इस मामले में दलील सुनने के लिए 22 फरवरी की तारीख आज निर्धारित की।

इस मामले में जागृति के खिलाफ दाखिल आरोपपत्र में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा (302), हत्या का प्रयास (307), अवैध रूप से 10 या इससे अधिक दिन तक बंधक बना कर रखने (344), आपराधिक धमकी देने (506) और सबूत मिटाने (201) के आरोप लगाए गए हैं। अदालत में दाखिल किए गए आरोपपत्र में उत्तर प्रदेश के जौनपुर से बसपा के मौजूदा सांसद धनंजय के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत आरोप लगाए गए हैं। इनमें साक्ष्यों को कथित तौर पर नष्ट करना और हत्या के लिए उकसावा देने तथा हत्या का प्रयास शामिल है।

एक मजिस्ट्रेट अदालत ने दिल्ली पुलिस द्वारा दाखिल आरोपपत्र पर 4 फरवरी को संज्ञान लिया था और इस मामले को यहां की एक सत्र अदालत को हस्तांतरित कर दिया था। धनंजय और एक स्थानीय अस्पताल में दंत चिकित्सक जागृति इस समय न्यायिक हिरासत में जेल में हैं। पुलिस ने अपने आरोपपत्र में कहा है कि जागृति ने अपनी तीन नौकरानियों को बेरहमी से पीटा और उन्हें बंधक बनाकर उनसे काम कराया।

आरोप है कि नौकरानियों को 175, साउद एवेन्यू हाउस से बाहर नहीं निकलने दिया गया जहां यह घटना हुई। पुलिस ने यह भी दावा किया है कि धनंजय और उनकी पत्नी ने अपने घर में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से छेड़छाड़ की होगी। इस दंपति को पश्चिम बंगाल निवासी अपनी 35 वर्षीय नौकरानी राखी भद्रा की मौत को लेकर पिछले साल 5 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था।

राखी के शरीर, पैर, छाती और बांह पर चोट के निशान थे। उसका शव चार नवंबर को धनंजय के साउथ एवेन्यू आवास से बरामद किया गया था। पुलिस ने धनंजय के खिलाफ एक अलग मामले में भी आरोपपत्र दाखिल किया था। यह मामला 42 वर्षीय एक रेल कर्मचारी का करीब चार साल तक कथित तौर पर कई बार बलात्कार करने का है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You