वॉक फॉर जस्टिस

  • वॉक फॉर जस्टिस
You Are HereNational
Tuesday, February 11, 2014-12:39 PM

नई दिल्ली: 1984 के सिख दंगों में मारे गए लोगों को न्याय दिलाने और उसमें संलिप्त कांग्रेस नेताओं का नाम उजागर करने की मांग को लेकर दिल्ली के सिखों ने वॉक फॉर जस्टिस में हिस्सा लिया। इस दौरान दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के चेयरमैन मंजीत सिंह जीके के नेतृत्व में गुरुद्वारा बंगला साहिब से प्रधानमंत्री आवास तक कैंडल मार्च निकाला। साथ ही सिखों की याद में इंसाफ की आवाज बुलंद की। कांग्रेस पार्टी को जून 1984 में आपरेशन ब्लू स्टार एवं नवम्बर 84 में सिखों का नरसंहार करने के लिए दोषी करार देते हुए मंजीत सिंह जीके ने राहुल गांधी को भी आड़े हाथों लिया। उनके मुताबिक राहुल गांधी ने 1984 के सिखों के कत्लेआम में कांग्रेस नेताओं के शामिल होने के कबूलनामे का हवाला देते हुए ब्रिटिश सरकार द्वारा ऑपरेशन ब्लू स्टार में मदद देने की भी बात कही।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से अपनी पार्टी का 1984 में हुए हमले एवं नरसंहार पर रुख साफ करने की अपील की। साथ ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी पर सिखों के पवित्र स्थान पर हुए हमले के दौरान हजारों निर्दोष सिखों की हत्या एवं उनकी सम्पत्ति को जलाने और नष्ट करने का भी आरोप लगाया। दिल्ली कमेटी के महासचिव एवं विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने ऑपरेशन ब्लू स्टार को पूर्व नियोजित बताते हुए हैरानी प्रकट की कि एक प्रभूसत्ता संपन्न राष्ट्र अपने नागरिकों के संवेदनशील घरेलू मसले पर विदेशी मदद किस प्रकार मांग सकता है। सिखों से इस मसले पर एकजुट होने की अपील करते हुए भारत सरकार से स्पष्टीकरण भी मांगा। इस मौके पर अकाली दल के सभी विधायक, कमेटी के सदस्य, पार्षद सहित पदाधिकारी मौजूद रहे।   


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You