अंतरिम रेल बजट: ये है रेल बजट की घोषणाएं

  • अंतरिम रेल बजट:  ये है रेल बजट की घोषणाएं
You Are HereNational
Wednesday, February 12, 2014-1:07 PM

नई दिल्ली: रेल मंत्री मल्लिकार्जुन खडग़े ने आज अंतरिम रेल बजट पेश करने के लिए लोकसभा में पहुंचे। वहीं, संसद में तेलंगामा मुद्दे पर इतना हंगामा हुआ कि रेल मंत्री मल्लिकार्जुन खडग़े पूरा अंतरिम रेल बजट भी नहीं पढ़ सके। सदन की कार्यवाही को कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया। बतां दें कि ये इस साल का अंतरिम रेल बजट जो सिर्फ चार महीनों के लिए होगा।










ये है रेल बजट की घोषणाएं-

-रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे विकास के लिए बहुत जरूरी, रोडमैप बनाना होगा
-64875 नई बोगियों को जोड़ा गया
-2207 किलोमीटर लाइनें बिछाई.
-बनिहाल सुरंग रेलवे के लिए बड़ी उपलब्धि
-नई ट्रेनों को जारी करने के कई सुझाव मिले. रेलवे में छठे वेतन आयोग को लागू किया गया
-कटरा (वैष्णो देवी) के लिए जल्द ही पसेंजर ट्रेन ऑपरेशन शुरू किये जाएंगे
-कश्मीर को  बाकी भारत से जोडऩा एक बड़ी उपलब्धि
-अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में जल्द ही रेलवे सेवाएं शुरू की जाएंगी 
-ऊधमपुर-कटरा रेल लाइन पर ट्रायल रन जारी
-गाडिय़ों की सही स्थिति तथा उनके चालन का पता लगाने के लिए आनलाइन ट्रैकिंग की व्यवस्था होगी
-चुनिंदा मार्गो पर 160 से 200 किलोमीटर प्रति घंट की रफ्तार के लिए कम लागत वाले विकल्पों की खोज की जा रही है
-गाडिय़ों की सही स्थिति तथा उनके चालन का पता लगाने के लिए आनलाइन ट्रैकिंग की व्यवस्था होगी
-दूध की ढुलाई बढ़ाने के लिए पार्सल संबंधी नयी नीति और पार्सल कारोबार के लिए ‘हब एंड स्पोक’ की नयी अवधारणा
-इस वित्त वर्ष में मेघालय राज्य और अरूणाचल प्रदेश की राजधानी रेलवे मानचित्र में शामिल होगी
-असम में सामरिक महत्व के 510 किलोमीटर लम्बे रंगिया-मुरकोंगसेलेक लाइन का आमान परिवर्तन इस वर्ष में पूरा किया जायेगा

रेल मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि आय में गिरावट के बावजूद यह एक विकासोन्मुखी बजट होगा। अप्रैल-दिसंबर, 2013 के दौरान भाड़ा और यात्री किराए से आय में गिरावट आई है। इस दौरान, जहां माल ढुलाई भाड़े से आय करीब 850 करोड़ रुपये कम रही, यात्री किराए से आय में करीब 4,000 करोड़ रुपये की गिरावट आई। लगभग 20 रूट पर 60 से 70 प्रीमियम ट्रेनों का ऐलान हो सकता है। ये ट्रेन अभी सिर्फ मुंबई-दिल्ली रूट पर चलती हैं और 37 फीसदी मुनाफा कमा चुकी हैं। रेलवे की योजना इन ट्रेनों से होने वाले मुनाफे को सब्सिड़ी में डालकर आम आदमी को फायदा पहुंचाने की है।

साथ ही रेलवे के लिए ट्रेनों में लगातार बढ़ रही आग लगने की घटनाओं पर काबू पाना सबसे बड़ी चुनौती है। संभव है कि ऐसे में प्रमुख ट्रेनों में अग्निरोधक उपायों की घोषणा भी की जाए लेकिन आम आदमी की नजरें इस बात पर होंगी कि क्या रेल किराये में बढ़ोतरी होगी या नहीं क्योंकि आम आदमी को तो यही चाहिए कि कि रेल किराये पर क्या फैसला होगा लेकिन इस पर अभी कोई सवाल नहीं उठा है वहीं दूसरी तरफ मंगलवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने रेल बजट पेश होने से पहले नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर कुलियों से मिलकर उनकी समस्याएं सुनीं और उनसे काफी देर बातचीत की। कुलियों ने राहुल गांधी से कुलियों के रेट बढ़ाने की भी मांग की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You