पानी की चोरी के मामले में विभागीय जांच के आदेश

  • पानी की चोरी के मामले में विभागीय जांच के आदेश
You Are HereNational
Thursday, February 13, 2014-1:48 AM
नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): द्वारका में इतने बड़े पैमाने पर हो रही पानी की चोरी के मामले में एस.एच.ओ. को लापरवाही का दोषी मानते हुए विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। इस बीट पर तैनात करीब आधा दर्जन पुलिसवालों के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए गए हैं। पुलिस जांच में इस बात पर जोर रहेगा कि इस पानी चोरी के खेल में और कौन-कौन लोग शामिल हैं। इधर दिल्ली सरकार ने भी विजीलैंस को जांच के लिए कहा है।
 
दक्षिण-पश्चिम जिला पुलिस उपायुक्त सुमन गोयल ने इस मामले में द्वारका सैक्टर-23 थाने के एस.एच.ओ. राम किशन सहित आधा दर्जन पुलिसवालों के खिलाफ विभागीय जांच (डी.ई.) की सिफारिश करते हुए आला अधिकारियों को फाइल भेजी है। 
 
पुलिस सूत्रों का कहना है कि उपायुक्त का मानना था कि धड़ल्ले से हो रही पानी चोरी में कहीं नकहीं एस.एच.ओ. ने लापरवाही बरती है। दिल्ली सरकार ने भी उठाया कदम: नवोदय टाइम्स में छपी खबर पर दिल्ली सरकार ने कार्रवाई की है।
 
 खबर पर संज्ञान लेते हुए दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक हैल्पलाइन में बतौर मुख्यमंत्री सलाहकार तैनात डॉ. एन.दलीप कुमार ने दिल्ली जल बोर्ड के विजीलैंस विभाग से कार्रवाई के लिए कहा है। उन्होंने बताया कि पानी माफिया पर कार्रवाई को लेकर दिल्ली सरकार बेहद गंभीर है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You