यौन उत्पीडऩ मामला: अदालत ने मंत्री को पुलिस के समक्ष पेश होने के दिए निर्देश

  • यौन उत्पीडऩ मामला: अदालत ने मंत्री को पुलिस के समक्ष पेश होने के दिए निर्देश
You Are HereNational
Thursday, February 13, 2014-10:06 AM

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय ने पूर्व मंत्री शब्बीर अहमद खान को निर्देश दिया कि वह कथित यौन उत्पीडऩ मामले में पुलिस के समक्ष पेश हों लेकिन जांच अधिकारी को निर्देश दिया कि उन्हें गिरफ्तार किए जाने पर निजी मुचलके पर रिहा कर दिया जाए।
 
न्यायमूर्ति जनक राज कोटवाल ने खान की अग्रिम जमानत याचिका पर अंतरिम आदेश जारी करते हुए पूर्व स्वास्थ्य राज्य मंत्री खान को निर्देश दिया कि वह कल जांच अधिकारी के समक्ष पेश हों। अदालत ने साथ ही जांच अधिकारी को निर्देश दिया कि यदि वह खान को गिरफ्तार करने का निर्णय करते हैं तो वह उन्हें 25 हजार रूपये की निजी मुचलके पर रिहा कर दें।
 
न्यायमूर्ति कोटवाल ने खान के वकील, पीड़िता और सरकार का पक्ष सुनने के बाद अग्रिम जमानत पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया। आदेश सोमवार को सुनाया जाएगा। उच्च न्यायालय ने इसके साथ ही खान पर कई शर्तें भी लगा दीं जिसमें यह भी शामिल है कि वह जांच अधिकारी की पूर्व अनुमति के बिना श्रीनगर शहर नहीं छोड़ेंगे।
 
पूर्व मंत्री एक महिला चिकित्सक द्वारा गत छह फरवरी को उनके खिलाफ यौन उत्पीडऩ की शिकायत दर्ज कराये जाने के बाद से गिरफ्तारी से बच रहे हैं। खान को निर्देश दिया गया कि वह मामले की अगली सुनवायी की तिथि सोमवार से पहले जम्मू कश्मीर क्षेत्राधिकार छोड़कर नहीं जाएं। इससे पहले खान के वकील बी एस एस लाठिया ने अपने मुवक्किल के लिए अग्रिम जमानत के लिए दलील देते हुए कहा कि वह जांच में सहयोग करने के लिए तैयार हैं क्योंकि उनके खिलाफ लगाये गए आरोप झूठे और ओछे हैं। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You