मप्र में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देगा झील महोत्सव: विजयवर्गीय

  • मप्र में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देगा झील महोत्सव: विजयवर्गीय
You Are HereNational
Thursday, February 13, 2014-1:11 PM

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी और झीलों की नगरी भोपाल में 14 फरवरी से तीन दिवसीय झील महोत्सव शुरू हो रहा है। राज्य के आवास व पर्यावरण मंत्री कैलाश विजयवर्गीय का मानना है कि यह महोत्सव राज्य में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने में मददगार बनेगा। झील महोत्सव का ब्योरा देते हुए विजयवर्गीय ने बुधवार को संवाददाताओं को बताया कि इस आयोजन का मकसद भोपाल की झील व तालाबों से लेकर राज्य के अन्य पर्यटन स्थलों से दुनिया के लोगों को परिचित कराना है। भोपाल के आसपास अनेक पर्यटन स्थल हैं, जहां तक पर्यटकों को पहुंचने के लिए सुविधाएं उपलब्ध है, लिहाजा यह आयोजन इस स्थिति से यहां आने वालों को अवगत कराने में सफल रहेगा।

 

विजयवर्गीय ने आगे कहा कि राज्य में पर्यटन एक उद्योग की शक्ल ले रहा है, यहां पर्यटकों को बेहतर सुविधाएं मिल रही है। यही कारण है कि मंदी के दौर में जहां अन्य राज्यों में पर्यटकों की संख्या कम हुई वहींं राज्य में बीते वर्ष से कहीं ज्यादा पर्यटक आए। इतना ही नहीं पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित भी किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि 14 से 16 फरवरी तक चलने वाले इस तीन दिवसीय झील महोत्सव में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अलावा जनजागृति लाने के अनेक कार्यक्रम होंगे।

 

इसके साथ ही पहले दो दिवसीय झील व तालाबों के संरक्षण विषय पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन भी होगा। विजयवर्गीय के मुताबिक यह सम्मेलन आवास एवं पर्यावरण विभाग के अंतर्गत कार्यरत संस्था पर्यावरण नियोजन व समन्वय संगठन एप्को द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इसे आयोजन में देश और दुनिया की उन संस्थाओंं का साथ मिला है जो तालाब संरक्षण के लिए कार्य कर रही है। सम्मेलन के पहले दिन 14 फरवरी को छह सत्र होंगे।

 

इन सत्रों में तालाबों के विशेषज्ञ एवं पर्यावरण के जानकार अपने शोधपत्र पढ़ेंगे। इसके साथ ही तालाबों, झीलों पर जलवायु परिवर्तन का क्या प्रभाव होगा इस विषय पर विशेष तौर पर प्रस्तुतीकरण होगा। वहीं दूसरे दिन 15 फरवरी को राज्य के तालाबों एवं जलस्त्रोतों पर एक विषष सत्र होगा। इस सत्र में सरकारी व सामाजिक स्तर पर तालाबों को बचाने के लिए किए गए प्रयासों को रेखांकित किया जाएगा। तालाबों के आसपास बढते अतिक्रमण के सवाल पर विजयवर्गीय ने कहा है कि देश के हर हिस्से में यह समस्या है। जनसंख्या बढने के साथ इस तरह की समस्याएं भी बढ़ रही हैं, लिहाजा देशव्यापी तालाब बचाओ अभियान जरूरी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You