वैलेंटाइन दिवस पर प्यार का इजहार कहीं महंगा न पड़ जाए

  • वैलेंटाइन दिवस पर प्यार का इजहार कहीं महंगा न पड़ जाए
You Are HereNational
Thursday, February 13, 2014-2:18 PM

नर्इ दिल्ली:वैलेंटाइन दिवस कुछ लोगों के लिए नए रिश्तों की सौगात लेकर आता है लेकिन कुछ लोगों के लिए यह दिन दिल टूटने,निराश, कुंठा तथा खुदकुशी की सोच जैसी गंभीर मनौविज्ञानिक समास्याओं का कारण बन सकता है। प्रेम के प्रतीक के तौर पर मनाए जाने वाले वैलेंटाइन दिवस की पूर्व संध्या पर मनोचिकित्सकों ने कहा कि वैलेंटाइन दिवस के बाद मानसिक सहायता लेने के लिये मनोचिकित्सकों के पास आने वाले अविवाहित युवक, युवतियों एवं शदीशुदा महिलाओं पुरूषों की संख्या में पांच से छह गुना इजाफा हो जाता है।

दिल्ली के मानसिक स्वास्थय संस्थान, दिल्ली साइकिएट्रिक सेंटर और कास्मोस इंस्टीच्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड बिहैवियरल साइंसेस (सीआईएमबीएस) ने ऐसे लोगों को मनोवैज्ञानिक सहायता एवं मानसिक परामर्श देने के उद्देशय से विशेष रिलेशनशिप हेल्पलाइन एवं क्लिनिक की शुरूआत की है।

जाने-माने मनोचिकित्सक डॉ. सुनील मित्तल ने बताया कि पिछले कुछ सालों से देखा जा रहा है कि वैलेंटाइन दिवस के तुरंत बाद हमारे पास आने वाले वैसे लोगों की संख्या में काफी इजाफा हो जाता है जिनके मन में प्रेम संबंध एवं वैवाहिक जीवन को लेकर निराशा एवं हीन भावना भर जाती है। या जिनके मन में आत्महत्या का ख्याल आने लगता है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों में उन युवाओं की संख्या अधिक होती है जो दिल के टूटने के कारण 'क्लिनिकली डिप्रेंस्ड' हो जाते हैं और उनमें खुदकुशी की सोच हाबी हो जाती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You