एमबीबीएस कोर्स की अवधि अब पहले की तरह साढ़े पांच वर्ष

  • एमबीबीएस कोर्स की अवधि अब पहले की तरह साढ़े पांच वर्ष
You Are Herecarrier
Friday, February 14, 2014-2:40 PM

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) के उस अधिसूचना पर रोक लगा दी है, जिसमें कोर्स को साढ़े सात वर्ष करने का निर्णय लिया था।एमबीबीएस कोर्स की अवधि अब पहले की तरह साढ़े पांच वर्ष की होगी। बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य मंत्री के साथ रेजिडेंट डॉर्क्ट्स एसोसिएशन (आरडीए) की बैठक में यह फैसला लिया गया। जीटीबी रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष डॉक्टर रंजन अग्रवाल के अनुसार  स्वास्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद और स्वास्थ्य मंत्रालय के अफसरों के साथ हुई बैठक के बाद हड़ताल खत्म करने का निर्णय लिया गया।

बैठक में निर्णय लिया गया कि अब पहले की तरह एमबीबीएस कोर्स में साढ़े चार वर्ष की थ्योरी क्लास और एक वर्ष का इंटर्नशिप होगी, जबकि पोस्ट ग्रेजुएशन में दाखिले के पहले एक वर्ष तक ग्रामीण इलाकों में चिकित्सीय कार्य करने की अनिवार्यता को भी खत्म कर दिया गया है। छात्रों की सारी मांगे मान ली गई हैं, इसलिए रेजिडेंट डॉक्टर काम पर लौट आए हैं। मेडिकल छात्रों ने सरकार के इस फैसले पर खुशी जताई और दिल्ली के सभी रेजिडेंट डॉक्टरों का शुक्रिया अदा किया। वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने फैसले का स्वागत करते हुए इसे छात्रों की जीत बताई। मंत्रालय ने फिलहाल यह व्यवस्था पीजी एग्जाम वर्ष 2015-16 तक के लिए की है। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You