जांच पड़ताल समाधान नहीं, आत्म नियंत्रण की जरूरत: नीतीश

  • जांच पड़ताल समाधान नहीं, आत्म नियंत्रण की जरूरत: नीतीश
You Are HereBihar
Friday, February 14, 2014-4:51 PM

पटना: विवादास्पद तेलंगाना विधेयक पेश किए जाने के दौरान लोकसभा में कल हुए हंगामे , कालीमिर्च का स्प्रे किए जाने और माइक तोड़े जाने की घटनाओं की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कहा कि इस समस्या का समाधान संसद के भीतर जाने वाले जनप्रतिनिधियों की जांच पड़ताल नहीं बल्कि आत्म नियंत्रण है और इस बारे में सभी दलों के लोगों को सोचना चाहिए।

बिहार विधामंडल के बजट सत्र के आज पहले दिन की कार्यवाही खत्म होने पर पत्रकारों से बात करते हुए नीतीश ने तेलंगाना विधेयक पेश किए जाने के समय लोकसभा में कल कालीमिर्च का स्प्रे किए जाने और माइक तोड़े जाने की घटनाओं के बारे में कहा कि इसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है। भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में इस तरह की घटना की कल्पना नहीं की जा सकती और इसकी निंदा के लिए शब्द कम पड़ जाएंगे।

चार बार लोकसभा के सदस्य रह चुके तथा प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पिछली राजग सरकार में मंत्री रहे नीतीश ने कहा कि ऐसे कृत्य के लिए माफी नहीं दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि जांच पडताल इसका समाधान कभी नहीं हो सकता है। इस समस्या का समाधान संसद के भीतर जाने वाले जनप्रतिनिधियों के स्वयं पर नियंत्रण रखने से ही होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You