अगर 50 मोदी भी आएं तो हम भयभीत नहीं हैं: जमीयत उलेमा

  • अगर 50 मोदी भी आएं तो हम भयभीत नहीं हैं: जमीयत उलेमा
You Are HereNational
Friday, February 14, 2014-7:34 PM

गुवाहाटी: जमीयत उलेमा-ए-हिन्द ने आज कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी अगर प्रधानमंत्री बनते हैं तो वह मुस्लिमों की सुरक्षा को लेकर चिंतित नहीं हैं । जमीयत उलेमा-ए-हिन्द के अध्यक्ष मौलाना सैयद अरशद मदनी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम किसी मोदी को लेकर भयभीत नहीं हैं। अगर 50 मोदी भी आएं तो हम भयभीत नहीं हैं। हम किसी से भयभीत नहीं हैं।’’ उनसे सवाल किया गया था कि क्या गुजरात दंगों के परिप्रेक्ष्य में मोदी के प्रधानमंत्री बनने को लेकर मुस्लिमों के मन में किसी तरह का भय है। 

   गुजरात में 2002 के दंगों में भूमिका के सिलसिले में एक एसआईटी द्वारा उनका नाम नहीं लिए जाने के बाद अहमदाबाद की एक अदालत ने मोदी को क्लीन चिट दे दी थी। मदनी ने कहा, ‘‘हिन्दू और मुस्लिम दोनों मूल रूप से इसी देश के हैं और वे सदियों से शांतिपूर्वक रहते आ रहे हैं। झगड़े से किसी समस्या का समाधान नहीं हो सकता।

हर किसी को प्रेम एवं स्नेह से रहना चाहिए।’’  उन्होंने हालांकि दावा किया कि कई निर्दोष मुस्लिमों को आतंकवादी बताकर फर्जी मुठभेड़ में मार दिया गया है। जमीयत उलेमा-ए-हिन्द 28 फरवरी को नगांवा जिले के अमोनी में एक धार्मिक सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। इसमें मदीना मुनव्वरा मस्जिद के मुख्य इमाम अब्दुल मोहसिन अल कासिम भी शामिल होंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You