जेटली ने केजरीवाल के इस्तीफे पर कहा: भगवान का शुक्र है, दु:स्वप्न समाप्त हुआ

  • जेटली ने केजरीवाल के इस्तीफे पर कहा: भगवान का शुक्र है, दु:स्वप्न समाप्त हुआ
You Are HereNational
Saturday, February 15, 2014-4:17 PM

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के नेता अरुण जेटली ने दिल्ली में आप की सरकार को ‘‘अब तक की सबसे खराब सरकार’’ करार देते हुए आज कहा कि जनलोकपाल के मामले पर अरविंद केजरीवाल का इस्तीफा देने का निर्णय ‘‘दु:स्वप्न’’ से अंतत: उबरने जैसा है।

जेटली ने वेबसाइट पर लिखा, ‘‘ दु:स्वप्न अंतत: समाप्त हो गया। दिल्ली की अब तक की सबसे खराब सरकार ने इस्तीफा दे दिया... भगवान का शुक्र है कि दु:स्वप्न समाप्त हो गया।’’

राज्यसभा में विपक्ष के नेता ने दावा कि ‘‘ चतुर राजनीति और कोई प्रशासन नहीं’’ दिल्ली में आप सरकार का सिद्धांत नजर आता है। उन्होंने कहा कि पिछले 49 दिनों में दिल्ली में एक गैर परंगरागत सरकार रही।

जेटली ने अपनी बेवसाइट पर लिखा, ‘‘यह एजेंडा रहित और विचारधारा रहित सरकार थी। यह सरकार लोकलुभावनवाद पर आधारित और जनभावनाओं का फायदा उठाने वाली थी।’’

उन्होंने कहा कि हालांकि भाजपा दिल्ली विधानसभा में बड़ी पार्टी थी, आप को अपना बहुमत साबित करने के लिए ‘शर्मनाक तरीके से’ कांग्रेस का समर्थन हासिल करने से पहले कोई हिचकिचाहट नहीं हुई। उन्होंने कहा, ‘‘यह जनादेश के बिना एक सरकार थी। इसके पास केवल 28 सीटें थीं।’’

जेटली ने कहा कि आप के अधिकतर विधायकों के पास अनुभव और परिपक्वता की कमी थी। उन्होंने कहा, ‘‘उनका दृष्टिकोण आंदोलनकारी था लेकिन उन्हें किसी प्रकार का शासन चलाने का अनुभव नहीं था... क्या आप सरकार ने दिल्ली में पेय जल संयोजकता को बढाने का निर्णय लिया?’’

भाजपा नेता ने कहा, ‘‘क्या उन्होंने दिल्ली में स्वास्थ्य सेवाओं को बढाने की योजना के बारे में गंभीरता से सोचा? क्या उन्होंने कभी नए स्कूल या कॉलेज खोलने के बारे में सोचा? दिल्ली मेट्रो को अगले चरण पर ले जाने का क्या हुआ? क्या और अधिक पुल तथा बेहतर पीडब्ल्यूडी सड़कें बनाने का विचार कभी उनके दिमाग में आया? ये वे क्षेत्र हैं जो एक बड़े महानगर में रह रहे लोगों के जीवन की गुणवत्ता को बढाते हैं। ये शासन के वास्तविक क्षेत्र हैं।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You