हमारे लिए सभी विकल्प खुले हैं: हर्षवर्धन

  • हमारे लिए सभी विकल्प खुले हैं: हर्षवर्धन
You Are HereNational
Saturday, February 15, 2014-11:43 PM
नई दिल्ली: दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार गिरने के बाद दिल्ली की राजनीति एक बार फिर से नए मोड़ पर खड़ी हो गई है। दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग ने राष्ट्रपति शासन की सिफारिश भले ही कर दी है लेकिन भाजपा में इस बात पर मंथन तेज है कि यदि सरकार बनाने को लेकर उप राज्यपाल का न्यौता आता है तो उसे स्वीकार करना चाहिए या पूर्व की तरह बहुमत न होने का हवाला देकर चुनाव का इंतजार करना चाहिए। 
 
यही वजह है कि भाजपा कह रही है कि कल तक बहुमत न होने का हवाला देकर सरकार बनाने से इंकार करने वाली भाजपा अब यह कह रही है कि उसके लिए सभी विकल्प खुले हैं और जो भी स्थिति आएगी, उसे खुशी-खुशी स्वीकार करने को तैयार हैं।  शनिवार को भाजपा मुख्यालय में प्रैसवार्ता में  भाजपा विधायक दल के नेता और डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि चुनाव को तीन महीने ही हुए हैं और ईमानदारी की बात यह है कि कोई भी विधायक नया चुनाव नहीं चाहता।
 
हालांकि विधायकों की ओर से पार्टी पर किसी भी तरह का कोई दबाव नहीं है। यह पूछे जाने पर कि दिल्ली के उप-राज्यपाल अगर उन्हें सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करें तो क्या वह ऐसा करेंगे। उन्होंने कहा कि यदि ऐसी कोई पेशकश आती है तो हम अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ उस पर विचार विमर्श करेंगे। अगर उप राज्यपाल तुरंत चुनाव के लिए कहते हैं तो हम  उसके लिए भी तैयार हैं। इसी बीच उप राज्यपाल ने विधानसभा भंग करने की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सिफारिश को अस्वीकार करते हुए उसे निलंबित रखने की सिफारिश की है। 
 
विधानसभा भंग किए जाने के संबंध में हर्षवर्धन ने कहा कि हमारी ओर से अभी इस बारे में कोई रणनीति नहीं है। जोड़-तोड़ में हमारी रुचि कभी नहीं रही। गेंद अब उप-राज्यपाल के पाले में है, विकल्पों पर वह विचार करें। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You