मीटिंग-दर-मीटिंग में ही उलझी रही केजरीवाल की सरकार

  • मीटिंग-दर-मीटिंग में ही उलझी रही केजरीवाल की सरकार
You Are HereNational
Sunday, February 16, 2014-12:57 AM
 नई दिल्ली(ताहिर सिद्दीकी): केजरीवाल सरकार कई वायदों पर केवल बैठकें ही करती रह गई। सत्ता संभालते ही एक्शन में आने वाली सरकार के कई मंत्री  मीटिंग-दर-मीटिंग करते रह गए और सरकार चली गई। चुनिंदा चुनावी वायदों को पूरा करने के अलावा बाकी वायदे मीटिंग से बाहर ही नहीं निकल पाए।
 
आमतौर पर सत्ता संभालने के बाद शीला दीक्षित सरकार एक हफ्ते तक जश्न में डूबी रहती थी। इस दौरान एक भी महत्वपूर्ण फैसले नहीं लिए जाते थे लेकिन आम आदमी पार्टी के सत्ता संभालते ही पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से लेकर उनके कैबिनेट सहयोगी दिल्ली की कथित दुर्दशा को सुधारने में जुट गए। केजरीवाल सरकार  के मंत्री वरिष्ठ अधिकारियों से मीटिंग-पर- मीटिंग करने में व्यस्त हो गए। इस दौरान अगर पब्लिक अपनी समस्याओं को लेकर आती तो उन्हें जन शिकायत प्रकोष्ठ में भेज दिया जाता। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You