गुजरात में ‘आप’ तीसरे विकल्प के तौर पर उभरने के लिए प्रयासरत

  • गुजरात में ‘आप’ तीसरे विकल्प के तौर पर उभरने के लिए प्रयासरत
You Are HereNational
Monday, February 17, 2014-11:31 AM

अहमदाबाद: गुजरात के द्विदलीय राजनीतिक व्यवस्था में ‘आम आदमी पार्टी’ अब आगामी लोकसभा चुनावों में लोगों के लिए तीसरे विकल्प के तौर पर उभरने के लिए प्रयासरत है। गुजरात में अब तक कांग्रेस और भाजपा के अलावा अन्य कोई भी राजनीतिक दल अपनी पहचान छोडऩे में असफल रहा है। 

आम आदमी पार्टी के समन्वयक सुखदेव पटेल ने बताया कि ‘आप’ को पूरा विश्वास है कि वह मिथक तोड़ेगी और आगामी चुनावों में भाजपा और कांग्रेस के विकल्प के तौर पर उभरेगी। राज्य वर्ष 1960 में अस्तित्व में आया और तब से वहां कई छोटे बड़े राजनीतिक दल बने। लेकिन चुनाव में सफलता न मिलने के कारण कोई दल मजबूत नहीं हो पाया।

गुजरात में यह चलन अन्य भारतीय राज्यों के चलन के प्रतिकूल रहा। अन्य भारतीय राज्यों में क्षेत्रीय दल दिन ब दिन मजबूत हो रहे हैं।  गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री चिमनभाई पटेल ने अपनी ‘किसान मजदूर लोक पक्ष’ (केआईएमएलओपी) पार्टी बनाई लेकिन इसे अपेक्षित सफलता नहीं मिली। बाद में उन्होंने छबीलदास मेहता के साथ मिल कर जनता दल -गुजरात’ भी बनाया लेकिन इसका कांग्रेस में विलय हो गया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You