आर.के. अग्रवाल और एन.वी.रमण ने सुप्रीम कोर्ट के नए जज के रूप में ली शपथ

  • आर.के. अग्रवाल और एन.वी.रमण ने सुप्रीम कोर्ट के नए जज के रूप में ली शपथ
You Are HereNational
Monday, February 17, 2014-12:43 PM

नई दिल्ली: न्यायमूर्ति राजेश कुमार अग्रवाल और न्यायमूर्ति नुतालपति वेंकट रामन ने आज उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में पदभार ग्रहण किया जिसके साथ ही शीर्ष अदालत में मुख्य न्यायाधीश पी सदाशिवम समेत न्यायाधीशों की संख्या 31 हो गयी है।

न्यायमूर्ति अग्रवाल और न्यायमूर्ति रामन क्रमश: मद्रास उच्च न्यायालय और दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश थे। शीर्ष अदालत में मुख्य न्यायाधीश समेत न्यायाधीशों की मान्य कुल संख्या 31 है। इन दो न्यायाधीशों को प्रोन्नत कर शीर्ष अदालत में न्यायाधीश बनाया गया है। मुख्य न्यायाधीश सदाशिवम ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी।

न्यायमूर्ति अग्रवाल :60: केंद्र सरकार के वरिष्ठ वकील थे और उन्हें 5 फरवरी, 1999 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय का स्थायी न्यायाधीश नियुक्त किया गया था। उन्हें पिछले साल सात फरवरी को मद्रास उच्च न्यायालय का कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया था। बाद में 23 नवंबर, 2013 को उन्हें मुख्य न्यायाधीश बनाया गया। 

न्यायमूर्ति रामन आंध्रप्रदेश के पोन्नावरम गांव के निवासी हैं तथा उन्होंने पिछले साल 10 मार्च से 20 मई तक आंध्रप्रदेश उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में अपनी सेवाएं दी थीं। उन्हें 2 सितंबर, 2013 को दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में प्रोन्नत किया गया था। फरवरी, 1983 में वकील के रूप में करियर शुरू करने वाले न्यायमूर्ति रामन 27 जून, 2000 को आंध्रप्रदेश उच्च न्यायालय में न्यायाधीश बनाए गए थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You