सरकारी बाबुओं को रिश्वत लेते दबोचा

  • सरकारी बाबुओं को रिश्वत लेते दबोचा
You Are HereMadhya Pradesh
Monday, February 17, 2014-7:39 PM

इंदौर: मध्यप्रदेश के इंदौर संभाग में लोकायुक्त पुलिस ने नगर निगम के सहायक इंजीनियर को 20,000 हजार रुपये की रिश्वत लेते धर दबोचा, जबकि एक अन्य मामले में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का सहायक प्रबंधक 7,500 रुपये की घूस लेते वक्त पकड़ा गया। लोकायुक्त पुलिस के सूत्रों ने यहां बताया कि इंदौर नगर निगम के सहायक इंजीनियर रजनीश पंचोलिया को बिजली ठेकेदार राजेश गावड़े की शिकायत पर पकड़ा गया।

पंचोलिया इस ठेकेदार के किये गये बिजली संबंधी कार्यों के लगभग 16 लाख रूपये के बिल भुगतान के एवज में उससे 1,60,000 रुपये की रिश्वत की मांग कर रहा था। सूत्रों ने बताया कि पंचोलिया को लोकायुक्त पुलिस ने जाल बिछाकर उस वक्त रंगे हाथों पकड़ लिया, जब वह अपने कार्यालय में रिश्वत की पहली किश्त के रूप में गावड़े से 20,000 हजार रुपये ले रहा था। सूत्रों के मुताबिक दूसरे मामले में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की नजदीकी धार स्थित शाखा का सहायक प्रबंधक अमित रावत क्षेत्रीय किसान परसराम राठौर की शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस के बिछाये जाल में फंस गया।

सूत्रों ने बताया कि रावत को तब रंगे हाथों पकड़ा गया, जब वह बैंक शाखा सामने एक चाय की दुकान पर राठौर से 7,500 रुपये की रिश्वत ले रहा था। सूत्रों ने किसान की शिकायत के हवाले से बताया कि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की धार स्थित शाखा ने राठौर की चार लाख रुपये के कृषि ऋण की अर्जी मंजूर कर ली थी। इस कर्ज की प्रथम किश्त के तौर पर 1.25 लाख रुपये का चेक देने के एवज में बैंक शाखा के सहायक प्रबंधक ने 6 प्रतिशत की दर से 7,500 रुपये की रिश्वत मांगी थी। लोकायुक्त पुलिस ने दोनों आरोपियों के विरुद्ध भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत अलग-अलग मामले दर्ज किये हंै। दोनों मामलों में विस्तृत जांच की जा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You