पूंजीवाद नहीं बल्कि साठगांठ वाले पूंजीवाद के खिलाफ है ‘आप’ : केजरीवाल

  • पूंजीवाद नहीं बल्कि साठगांठ वाले पूंजीवाद के खिलाफ है ‘आप’ : केजरीवाल
You Are HereNational
Monday, February 17, 2014-8:54 PM
 नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि उनकी पार्टी पूंजीवाद नहीं बल्कि साठगांठ वाले पूंजीवाद के खिलाफ है ।
 
 केजरीवाल ने यह भी कहा कि व्यापार करना सरकार का काम नहीं है, उसे तो प्रशासन पर पूरा ध्यान देना चाहिए । भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के एक कार्यक्रम में ‘आप’ की आर्थिक योजना साझा करते हुए केजरीवाल ने कहा कि हम पूंजीवाद के खिलाफ नहीं बल्कि साठगांठ वाले पूंजीवाद के खिलाफ हैं । हमें उस वक्त निराशा होती है जब 1.5 लाख करोड़ के स्पेक्ट्रम एक हफ्ते के भीतर 6,000 करोड़ में बेच दिए जातेे हैं । इसे व्यापार नहीं बल्कि डकैती कहते हैं । 
 
दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर अपने 49 दिनों के कार्यकाल के दौरान केजरीवाल ने बिजली कंपनियों की ऑडिट के आदेश दिए और गैस की कीमतें तय करने में साठगांठ का आरोप लगाते हुए मुकेश अंबानी, रिलायंस इंडस्ट्रीज और पेट्रोलियम मंत्री वीरप्पा मोइली के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी ।
 
केजरीवाल ने कहा, ‘‘हमारे देश में कुछ ऐसे उद्योगपति हैं जो असल में उद्योगपति या व्यापारी नहीं हैं बल्कि वे देश को लूट रहे हैं । हम उनके खिलाफ हैं, न कि आप सब के खिलाफ । यदि व्यापार पर ताला लगा दिया जाएगा तो रोजगार कौन पैदा करेगा?’’
 ‘आप’ प्रमुख ने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त सरकार व्यापार के फलने-फूलने में मददगार हो सकती है और उनकी पार्टी भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनाने के लिए प्रतिबद्ध है । 
 
 केजरीवाल ने कहा कि सरकार ने जानबूझकर न्यायिक व्यवस्था को निष्प्रभावी बना रखा है । उन्होंने कहा कि मुकदमेबाजी में कमी लाने की जरूरत है और खासतौर पर ऐसी मुकदमेबाजी में कमी की जरूरत है जिसमें मुकदमा सरकार की तरफ से दायर किया जाता है ।
 
 ‘आप’ नेता ने कहा, ‘‘हमारी न्यायिक व्यवस्था काफी जटिल है । इसे जानबूझकर लुंज-पुंज बनाया गया है । यह समझना कोई मुश्किल काम नहीं है कि यदि आप ज्यादा जजों की नियुक्ति करेंगे, ज्यादा अदालतें खोलेंगे तो पिछले 20 साल से लंबित मुकदमे 6 महीने में निपटाए जा सकते हैं । मैं समझता हूं कि इससे स्थिति में काफी हद तक सुधार आएगा ।’’
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You