जब 1 किमी पैदल चले हाईकोर्ट के जज

  • जब 1 किमी पैदल चले हाईकोर्ट के जज
You Are HereNational
Tuesday, February 18, 2014-1:39 AM

नई दिल्ली, (सतेन्द्र त्रिपाठी): हाईकोर्ट के जस्ट्सि प्रदीप नंदरा जोग व जस्ट्सि मुक्ता गुप्ता ने सोमवार को एक किलोमीटर तक पैदल चलकर वकीलों की समस्या का जायजा लिया। यह दोनों जस्टिस तीन ड्रिस्ट्रिक जज के साथ कड़कडड़ूमा कोर्ट से विश्वास नगर स्थित फैमिली कोर्ट तक पैदल ही गए। 

इससे पहले इन लोगों ने कड़कडड़ूमा कोर्ट में खाली कोर्ट का भी निरीक्षण किया। दोनों जस्टिस ने वकीलों की समस्या को गंभीरता लेने का आश्वासन दिया है। वकीलों का कहना है कि इसी के मद्देनजर पैदल चलकर वास्तविक स्थिति देखी है। 
 
कड़कडड़ूमा कोर्ट से हाल ही में फैमिली कोर्ट को विश्वास नगर में शिफ्ट किया गया है। कोर्ट शिफ्ट होने से वकीलों व पीड़ित लोगों को परेशानी हो रही थी।वकीलों का तर्क था कि उन्हें बिना वजह इतनी दूर जाना पड़ता है, जब यहां ही कोर्ट रूम खाली है तो फिर दूसरी जगह कोर्ट क्यों शिफ्ट हुई। 
 
इसके खिलाफ शाहदरा बार ने अनिश्चितकालीन हड़ताल का ऐलान कर दिया गया था। कई दिन कोर्ट में हड़ताल भी रही। 
इतना ही नहीं दिल्ली की सभी जिला अदालतों ने भी कड़कडड़ूमा कोर्ट के वकीलों के समर्थन में एक दिन हड़ताल रखी। 
शाहदरा बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अरुण शर्मा ने बताया कि सोमवार को उनकी समस्या का जायजा लेने के लिए हाईकोर्ट के जस्ट्सि प्रदीप नंदरा जोग व जस्ट्सि मुक्ता गुप्ता कड़कडड़ूमा कोर्ट पहुंची। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You