बीज खरीद मामले को लेकर कांग्रेस का बहिर्गमन

  • बीज खरीद मामले को लेकर कांग्रेस का बहिर्गमन
You Are HereNational
Tuesday, February 18, 2014-12:07 PM

रायपुर: छत्तीसगढ़ विधानसभा में कल राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने राज्य में साल बीज खरीद में अनियमितता की जांच को लेकर सरकार से जांच प्रतिवेदन की प्रति विधानसभा के पटल पर रखने की मांग की और जवाब से असंतुष्ट होकर सदन से बहिर्गमन किया। विधानसभा में आज प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपेश बघेल की अनुपस्थिति में अन्य वरिष्ठ सदस्य सत्यनारायण शर्मा ने राज्य में साल बीज खरीद में अनियमितता की जांच को लेकर सवाल किया।

 

जवाब में मुख्यमंत्री रमन सिंह ने बताया कि राज्य में वर्ष 2009 में साल बीज खरीद में अनियमितता की जांच की शिकायत के बाद मामले की 21 दिसंबर वर्ष 2010 में जांच के आदेश दिए गए। सिंह ने बताया कि जांच अधिकारी तत्कालीन मुख्य वन संरक्षक बीके सिन्हा थे। जांच प्रतिवेदन 23 नवंबर वर्ष 2011 को प्रेषित किया गया। जांच प्रतिवेदन के तथ्यों का परीक्षण के लिए वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के सचिव दिनेश श्रीवास्तव की एक सदस्यीय समिति के द्वारा प्रतिवेदन नौ सितंबर वर्ष 2011 को प्रस्तुत किया गया।

 

मुख्यमंत्री ने बताया कि अधिकारियों द्वारा की गई विभित्र जांच में 10 अधिकारियों को दोषी पाया गया तथा उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इस पर सत्य नारायण शर्मा ने कहा कि यह लगभग 30 करोड़ रूपए के घपले का मामला है। राज्य के बाहर से साल बीज खरीदा गया और इस मामले में अधिकारियों की मिली भगत से घोटाला किया गया। शर्मा ने इस मामले में जांच प्रतिवेदन की प्रति विधानसभा के पटल पर रखने की मांग की तथा शासन के जवाब से असंतुष्ट होकर कांग्रेस ने सदन से बहिर्गमन कर दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You