आसाराम के रसोइया व गुरुकुल संचालक जमानत पर रिहा

  • आसाराम के रसोइया व गुरुकुल संचालक जमानत पर रिहा
You Are HereNational
Tuesday, February 18, 2014-5:31 PM

जोधपुर: नाबालिग के साथ यौन दुराचार के आरोपी आसाराम के रसोइया प्रकाश एवं छिंदवाडा स्थित गुरुकुल के संचालक शरद चन्द्र को राजस्थान उच्च न्यायालय ने जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए हैं।  न्यामूर्ति निर्मलजीत कौर ने आज दोनों की जमानत अर्जी मंजूर करते हुए उन्हें जेल से रिहा करने के आदेश दिए हैं। इससे पूर्व शिवा एवं शिल्पी की जमानत मंजूर की जा चुकी है। इस प्रकरण में अब मुख्य आरोपी आसाराम ही जेल में हैं। जोधपुर जिला एवं सत्र न्यायालय (ग्रामीण) के न्यायाधीश मनोज कुमार व्यास के समक्ष आसाराम सहित अन्य आरोपियों को पेश किया गया और आज आसाराम की पेशी जेल में ही कराने संबंधित आवेदन पर जिरह हुई। न्यायाधीश ने इस अर्जी पर दोनों पक्षों को सुनने के बाद कल फैसला सुनाने को कहा है।

आसाराम को वृहस्पतिवार को पुन अदालत में पेश किया जाएगा तथा इस दिन ही पीड़िता के बयानों की सीडी बचाव पक्ष को देने संबंधी आवेदन पर बहस की जाएगी। इसके अलावा पीड़िता के परिजनों की आरोपियों से फोन पर हुई बातचीत का विवरण भी बचाव पक्ष को उपलब्ध कराने वाली अर्जी पर सुनवाई होगी। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष 15 अगस्त को जोधपुर के पास मणाई स्थित आश्रम में कथावाचक आसाराम द्वारा उत्तर प्रदेश के एक साधक की पुत्री के साथ दुराचार करने का मामला 20 अगस्त को परिजनों ने दिल्ली के कमला बाजार थाने में दर्ज कराया था। राजस्थान पुलिस आसाराम को 31 अगस्त को मध्यप्रदेश के इन्दौर से गिरफ्तार कर यहां लाई और तब से वह जेल में बंद है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You