तेलंगाना बिल पर राज्यसभा महासचिव से धक्का मुक्की, संसद 2 बजे तक स्थगित

  • तेलंगाना बिल पर राज्यसभा महासचिव से धक्का मुक्की,  संसद 2 बजे तक स्थगित
You Are HereNational
Wednesday, February 19, 2014-1:23 PM

नई दिल्ली: तेलंगाना राज्य के गठन के मुद्दे पर राज्यसभा महासचिव के साथ कागजों की छीनाझपटी समेत भारी हंगामे के बीच आज राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर बाद दो बजे तक स्थगित करनी पडी।  इससे पहले सुबह ग्यारह बजे भी सदन की कार्यवाही शुरू होते ही इसी मुद्दे पर हंगामे के कारण कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित की गई थी।

दोपहर बारह बजे जब सदन फिर से बैठा तो सीमान्ध्र के सदस्य इस मुद्दे को लेकर फिर से आसन के निकट आ डटे जबकि समाजवादी पार्टी के सदस्य लोकसभा में तेलंगाना विधेयक पास करने के तौर तरीके के खिलाफ दिये गये अपने ङ्क्षनदा प्रस्ताव के नोटिस को लिये जाने की मांग करने लगे।

माक्र्सवादी सदस्य भी अपनी जगहों पर खडे होकर अपनी बात कह रहे थे जो शोर शराबे में गुम हो गई। उप सभापति पी जे कुरियन द्वारा सरकारी कागजात सदन के पटल पर रखवाये जाने की औपचारिकता पूरी होने के बाद जब राज्यसभा महासचिव ने लोकसभा से आया संदेश पढना शुरू किया तो उनके पास ही खडे तेलुगु देशम पार्टी के सी एम रमेश ने उनके हाथ से कागज छीनने की कोशिश की। इस पर  कुरियन ने आगबबूला होकर  सदस्य को डांटते हुए कहा 'स्टाफ पर हमला मत करिये'। उन्होंने एक सुरक्षाकर्मी को महासचिव का बचाव करने का भी निर्देश दिया। इस पर तेलुगु देशम के दूसरे सदस्य वाई एस चौधरी उप सभापति से नोक झोक पर आमादा हो गये तो उन्होंने आनन फानन में कार्यवाही दो बजे तक स्थगित कर दी।

बतां दें कि आज तेलंगाना बिल राज्यसभा में पेश होगा। वहीं, जगन रेडडी ने ऐलान किया है कि तेलंगाना के विरोध में आज आंध्र बंद रहेगा। तेलंगाना बिल का कांग्रेस के भीतर जबरदस्त विरोध हो रहा है। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी बुधवार को इस्तीफा देंगे। सुबह करीब 10 बजे वह मीडिया से बात करेंगे, फिर राज्यपाल को इस्तीफा सौंप देंगे। बताया जा रहा है कि 50 विधायकों के साथ वह अलग पार्टी भी बना सकते हैं।

विशाखापत्तनम में तेलंगाना का जोरदार विरोध हो रहा है। वहीं सैकड़ों की तादाद में तेलंगाना समर्थकों ने लोकसभा में बिल पास होने की खबर पर जश्न मनाया। बतां दें कि  कल मंगलवार को लोकसभा में तेलंगाना बिल जबदस्त विरोध के बीच 32 संशोधनों के साथ पास हो गया था। वोटिंग के दौरान जेडीयू और टीएमसी ने वॉकआउट किया था। वोटिंग की कार्यवाही का प्रसारण टीवी पर नहीं दिखाया गया था।

वहीं दूसरी ओर, तेलंगाना बिल पर भारतीय जनता पार्टी राज्यसभा में संशोधन प्रस्ताव लाएगी। सीमांध्र के लिए 10000 करोड़ के विशेष पैकेज की मांग की है। बीजेपी सूत्रों के हवाले से खबर है कि पार्टी ब्लैकआउट के खिलाफ है। अगर आज राज्यसभा की कार्यवाही का प्रसारण टीवी पर नहीं होता है तो बिल पर कोई चर्चा नहीं होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You