सी एम रमेश ने रास महासचिव से क्षमायाचना की

  • सी एम रमेश  ने रास महासचिव से क्षमायाचना की
You Are HereNational
Wednesday, February 19, 2014-3:09 PM

नई दिल्ली: पृथक तेलंगना राज्य के गठन का विरोध कर रहे तेलुगु देशम पार्टी के सदस्य सी एम रमेश ने राज्यसभा के महासचिव के साथ दुव्र्यवहार के लिए क्षमायाचना की लेकिन इससे पहले उपसभापति ने कहा कि रमेश ने महासचिव को काम करने से रोका है जो सदन के विशेषाधिकार का हनन है। भोजनावकाश के बाद सदन की कार्यवाही शुरू होते ही उप सभापति पी जे कुरियन ने कहा कि रमेश ने महासचिव को सदन का काम करने से रोका है इसलिए उनके विरूद्ध कार्रवाई का  प्रस्ताव किया गया है।

अन्नाद्रमुक और समाजवादी पार्टी के साथ ही कुछ अन्य दलो के सदस्यों ने इसका विरोध किया जिस पर रमेश को अपनी बात कहने के लिए कहा गया। रमेश ने कहा कि यह भावनात्मक मुद्दा है लेकिन महासचिव के साथ किये गये व्यवहार के लिए वह खेद जताते हैं। इस पर कुरियन ने कहा कि रमेश माफी नहीं मांगे तो उनके विरूद्ध कार्रवाई की जायेगी। इस पर रमेश ने क्षमायाचना की। इसके बाद उप सभापति ने आवश्यक दस्तावेज सदन पटल पर रखने की कार्यवाही शुरू की।

इससे पहले दोपहर 12 बजे कार्यवाही शुरू होने पर कुरियन द्वारा सरकारी कागजात सदन के पटल पर रखवाये जाने की औपचारिकता पूरी होने के बाद जब राज्यसभा महासचिव ने लोकसभा से आया संदेश पढना शुरू किया तो उनके पास ही खडे रमेश ने उनके हाथ से कागज छीनने की कोशिश की। इस पर कुरियन ने आगबबूला होकर  सदस्य को डांटते हुए कहा स्टाफ पर हमला मत करिये। उन्होंने एक सुरक्षाकर्मी को महासचिव का बचाव करने का भी निर्देश दिया। इस पर तेलुगु देशम के दूसरे सदस्य वाई एस चौधरी उप सभापति से नोक झोक पर आमादा हो गये थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You