नीतीश का भाजपा से नहीं बल्कि व्यक्ति विशेष से विरोध: मोदी

  • नीतीश का भाजपा से नहीं बल्कि व्यक्ति विशेष से विरोध: मोदी
You Are HereNational
Wednesday, February 19, 2014-4:37 PM

पटना: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज कहा कि नीतीश कुमार का भाजपा या उसकी विचारधारा से नहीं बल्कि व्यक्ति विशेष से विरोध है और इस वजह से ही उन्होंने वर्षों पुराना संबंध तोड़ा है।

मोदी ने आज यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि नीतीश कुमार का यह बयान कि मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन भाजपा के साथ नहीं जाएंगे, में कोई दम नहीं है। उन्होंने कहा कि नीतीश जब से राजनीति में आए है तब से वह अपने फायदे के लिए जनसंघ से लेकर भाजपा तक तीन बार उससे हाथ मिला चुके है। आगे भी जब जरूरत पड़ेगी तो वह भाजपा से समझौता कर लेंगे।

भाजपा नेता ने कहा कि नीतीश वर्ष 1974 में जेपी आंदोलन के समय जनसंघ के साथ थे और उसके बाद 1977 में जब कई दलों और जनसंघ को मिला कर जनता पार्टी बनी तब उस समय भी नीतीश साथ थे। इसके बाद 1980 में जब जनता पार्टी टूटी तो वह अलग हो गए। इसके बाद फिर 1996 में वह भाजपा के साथ हो गए और करीब 17 वर्ष तक साथ रहे। उन्होंने कहा कि नीतीश को जब भाजपा के साथ होना होता है तो वह उन्हें साम्प्रदायिक नहीं लगता है लेकिन जब साथ छोड़ते है तो वही पार्टी उन्हें साम्प्रदायिक लगने लगती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You