राजीव गांधी हत्याकांड के सभी दोषियों को रिहा करने की लोकसभा में उठी मांग

  • राजीव गांधी हत्याकांड के सभी दोषियों को रिहा करने की लोकसभा में उठी मांग
You Are HereNational
Wednesday, February 19, 2014-5:13 PM

नई दिल्ली: लोकसभा में आज राजीव गांधी हत्याकांड मामले के सभी सात दोषियों को रिहा करने का मार्ग प्रशस्त करने की मांग उठी। सदन में द्रमुक के टी आर बालू ने इस विषय को उठाते हुए कहा कि कल शीर्ष अदालत ने इस मामले में तीन दोषियों को मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदलने का निर्णय दिया, लेकिन इसके अलावा भी चार दोषी 21 वर्षो से विभिन्न जेलों में बंद हैं।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु सरकार ने राजीव हत्याकांड मामले के सभी सात दोषियों को रिहा करने का आज फैसला किया जिनमें वे तीन लोग शामिल हैं जिनकी सजा-ए-मौत को उम्रकैद की सजा में बदलने का शीर्ष अदालत ने कल फैसला दिया है। तमिलनाडु विधानसभा में इस बाबत एक घोषणा करते हुए जयललिता ने कहा कि राज्य मंत्रिमंडल का यह फैसला मंजूरी के लिए केन्द्र के पास भेजा जायेगा। यह मामला सीबीआई ने दायर किया था और सीआरपीसी की धारा 453 के तहत केन्द्र की मंजूरी जरूरी है। अन्नाद्रमुक के थम्बीदुरई ने कहा कि राज्य की मुख्यमंत्री और सरकार ने इन्हें रिहा करने का फैसला किया है और केन्द्र को इसमें सहयोग करना चाहिए।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने एक दिन पहले ही उनमें से तीन दोषियों संतन, मुरगन और पेरारिवलन की सजा-ए-मौत घटा कर उम्रकैद में बदलने का आदेश दिया था। तमिलनाडु सरकार ने इन तीनों के अलावा नलिनी, राबर्ट पायस, जयकुमार और रविचंद्रन को जेल से रिहा करने का फैसला किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You