राजीव गांधी के हत्यारों को छोडऩा ठीक नहीं: राहुल गांधी

  • राजीव गांधी के हत्यारों को छोडऩा ठीक नहीं: राहुल गांधी
You Are HereNational
Wednesday, February 19, 2014-7:11 PM

अमेठी: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज अपने पिता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारोपियों को मुक्त करने के तमिलनाडु सरकार के फैसले पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि उनके पिता को न्याय नहीं मिला है और इससे उनको निराशा हुई है।

अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के एकदिवसीय दौरे पर पहुंचे राहुल ने पूरब गांव में आयोजित एक सभा में कहा ‘‘मेरे पिता जी की हत्या हुई थी। उन्होंने देश के लिये जान दी थी। हमारे पिता को भी न्याय नहीं मिला। उनके हत्यारे छोड़े जा रहे हैं, इसका मुझे दुख है। इस देश में अब प्रधानमंत्री को भी न्याय नहीं मिलता है। यह मेरी अंतरात्मा की आवाज है ’’

यह कहते हुए कि हिन्दुस्तान मेंं प्रधानमंत्री को न्याय नहीं मिलता तो आम आदमी को न्याय की बात क्या करें, राहुल ने कहा, ‘‘मैं मृत्यु दंड की सजा में भरोसा नहीं करता...इससे मेरे पिता वापस नहीं आ जायेंगे।...मगर यह मेरे पिता अथवा मेरे परिवार की बात नहीं है...देश की बात है।...अगर कोई आदमी प्रधानमंत्री की हत्या कर दे और उसे छोड़ दिया जाये। जिस देश में प्रधानमंत्री के हत्यारों को छोड दिया जाता है, उसमें आम आदमी को न्याय कैसे मिलेगा...यह सोचने की बात है।’’

गौरतलब है कि तमिलनाडु सरकार ने राजीव गांधी हत्याकांड मामले के सभी सात दोषियों को रिहा करने का आज फैसला किया। एक दिन पहले ही उच्चतम न्यायालय ने उनमें से तीन की सजा-ए-मौत घटाकर उम्रकैद की सजा में बदलने का आदेश दिया था। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल की एक आकस्मिक बैठक में नलिनी, पेरारिवलन, संथन, मुरूगन, राबर्ट पायस, जयकुमार और रविचंद्रन समेत सभी सातों दोषियों को मुक्त करने का फैसला किया गया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You