संसद और विधानसभाएं बन रही है आंदोलन स्थल: अंसारी

  • संसद और विधानसभाएं बन रही है आंदोलन स्थल: अंसारी
You Are HereNational
Wednesday, February 19, 2014-7:39 PM

नई दिल्ली: संसद में बार-बार कार्रवाई बाधित होने जाने के मुद्दे को लेकर उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने आज कहा है कि वह विधायी संस्थाओं के कामकाज के पटरी से उतरने से बहुत हताश है और यह सदन आंदोलन क स्थल बन चुकी है। राज्यसभा के चेयमैरन अंसारी ने कहा कि संसद और विधानसभाओं में हंगामे के बहाने जो कुछ हो रहा है वह बहुत अफसोस नायक है। ऐसा लगता है कि संसद और विधानसभाएं जिस काम के लिए बनी है। उस पर सही नहीं उतर रही।

उन्होंने कहा कि संसद और विधानसभाएं इसलिए बताई गई है कि वहां लोगों के मुद्दो पर विचार किया जाए और सरकार की जबावदेही तय की जाए।  उन्होंने अफसोस जाहिर किया कि यह अब आंदोलन और नारे लगाने वाले स्थान बन कर रह गए है। अंसारी यहां एक पुस्तक ‘पब्लिक इश्यू विफोर पाॢलयामैंट-विजया दर्दा’ के विमोचन समारोह में बोल रहे थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You