सोनिया चाहती हैं सीमान्ध्र क्षेत्र के लिए विशेष दर्जा

  • सोनिया चाहती हैं सीमान्ध्र क्षेत्र के लिए विशेष दर्जा
You Are HereNational
Wednesday, February 19, 2014-8:38 PM

नई दिल्ली: पृथक तेलंगाना के गठन के विधेयक के आज राज्यसभा में पेश नहीं हो पाने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से सीमान्ध्र क्षेत्र को विशेष दर्जा देने का अनुरोध किया है। सूत्रों के अनुसार गांधी ने कहा है कि सीमान्ध्र क्षेत्र को पांच वर्ष के लिए विशेष दर्जा दिया जाना चाहिए। सरकार ने पृथक तेलंगाना के गठन से संबंधित आन्ध्र प्रदेश पुनर्गठन विधेयक मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के समर्थन से लोकसभा में पारित करा दिया था।

 

सीमान्ध्र क्षेत्र के सांसद राज्य के विभाजन का विरोध कर रहे हैं और उस क्षेत्र की जनता भी इसके पक्ष में नहीं है। विधेयक को आज राज्यसभा में पारित कराया जाना था लेकिन भाजपा द्वारा सीमान्ध्र क्षेत्र के लोगों की चिंताओ को दूर करने के लिएकुछ प्रावधान करने की खातिर संशोधन लाने की बात कहे जाने पर सरकार ने इसे पेश नहीं किया। इस विधेयक को अब कल राज्यसभा में पेश किया जायेगा। कांग्रेस विधेयक को पारित कराना चाहती है लेकिन इन संशोधनों को लेकर भाजपा के साथ अभी तक सहमति नहीं बन पाई है। संसद के मौजूदा सत्र के अब सिर्फ  दो दिन ही बचे हैं इसलिए सरकार पर इसे पारित कराने का दबाव है। लगता है कि इसीके मद्देनजर सीमान्ध्र क्षेत्र को विशेष दर्जा दिलाना चाहती हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You