तेलंगाना विधेयक पर संसद की मोहर

You Are HereNational
Friday, February 21, 2014-6:56 AM

नई दिल्ली: अभूतपूर्व हंगामे और प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान नारेबाजी व दस्तावेजों को फाड़ कर फैंके जाने तथा वोटिंग के दौरान तृणमूल कांग्रेस (टी.एम.सी.) और राकांपा के वाकआऊट की घटनाओं के बीच विवादास्पद तेलंगाना विधेयक आज राज्यसभा में पारित कर दिया गया और सदन को कल तक स्थगित कर दिया गया। लोकसभा इसे पहले ही पारित कर चुकी है। अब राष्ट्रपति के पास इसे 29वें राज्य के गठन की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। सरकार ने आंध्र प्रदेश के विभाजन में सीम्रांध क्षेत्र को 5 वर्ष के लिए विशेष राज्य का दर्जा देने का फैसला किया है। विपक्षी दल भाजपा ने 10 साल तक के लिए सीमांध्र को आर्थिक पैकेज देने की मांग की थी।

सुबह गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने हंगामे के बीच राज्यसभा में तेलंगाना विधेयक पेश किया था तो उस समय तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों ने उनको रोकने की कोशिश की थी। राज्यसभा की कार्रवाई तेलंगाना मुद्दे पर बार-बार स्थगित करनी पड़ी। समाजवादी पार्टी, तेलगू देशम व अन्नाद्रमुक सहित कई दलों के सदस्यों के साथ हंगामे के कारण राज्यसभा की कार्रवाई 2 बजे तक स्थगित कर दी गई। स्थगन के बाद जब 3.30 बजे सदन की कार्रवाई शुरू हुई तो उपसभापति पी.जे. कुरियन ने गृहमंत्री शिंदे को तेलंगाना विधेयक पेश करने को कहा। विधेयक पेश करने के समय मार्शलों के साथ सदस्यों की हाथापाई हुई। सदन में व्यवस्था बनाए रखने के लिए 10-12 मार्शल बुलाए गए थे।

हंगामा न रुकने पर कुरियन ने राजनीतिक पार्टियों को अपने चैम्बर में बुलाया और सदन की कार्रवाई 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी। बैठक में विधेयक पर चर्चा करवाने के लिए सहमति हुई। विपक्ष के नेता अरुण जेतली ने व्यवस्था का प्रश्न उठाते हुए सवाल किया कि क्या कोई मंत्री अपनी सरकार के ही खिलाफ बोल सकता है, इस पर उपसभापति कुरियन ने कहा कि यह सदस्य पर निर्भर करता है कि वह क्या बोलना चाहता है और यह सत्तापक्ष पर निर्भर है कि वह बोलने के लिए किस सदस्य को अनुमति देता है। जब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तेलंगाना पर बयान दे रहे थे तो तेदेपा और तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा किया और प्रधानमंत्री के सामने विधेयक की प्रतियां फाड़ कर फैंकीं और जमकर नारेबाजी की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You