विधायक पर हमला, विपक्ष का बहिर्गमन, विधायक निलंबित

  • विधायक पर हमला, विपक्ष का बहिर्गमन, विधायक निलंबित
You Are HereNational
Thursday, February 20, 2014-10:33 AM

रायपुर: छत्तीसगढ़ विधानसभा में कल निर्दलीय विधायक पर हमले मामले को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों ने गृह मंत्री को घेरा तथा आरोपियों पर हत्या की कोशिश का मामला दर्ज करने की मांग की। मंत्री के जवाब से विपक्ष के विधायकों ने जहां सदन का बहिर्गमन किया। वहीं, निर्दलीय विधायक गर्भगृह में चले गए जिससे वह स्वमेव निलंबित हो गए। विधानसभा में कल निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा, कांग्रेस के सदस्य राजेंद्र कुमार राय और भारतीय जनता पार्टी के सदस्य संतोष बाफना ने महासमुंद जिले में क्षेत्रीय विधायक चोपड़ा पर जानलेवा हमला करने के मामले में गृह मंत्री का ध्यान आकर्षित किया।

 

चोपड़ा ने अपने ध्यानाकर्षण की सूचना में कहा कि इस महीने की 16 तारीख को महासमुंद शराब भट्टी के लोगों ने अपने बोलेरो वाहन से क्षेत्रीय विधायक को कुचलने का प्रयास किया तथा विधायक के सहयोगी पवन साहू को राड मारकर घायल कर दिया। चोपड़ा ने कहा कि सुबह उन्हें सूचना मिली थी कि बोलेरो वाहन में अवैध शराब भरकर ले जाया जा रहा है। सूचना के बाद वह स्वयं तथा दो अन्य लोगों ने अपने वाहन से उनका पीछा किया और उन्हें रोका लेकिन इसी दौरान बोलेरो में सवार लोगों ने विधायक और उनके साथियों को कुचलने का प्रयास किया।

 

जवाब में गृह मंत्री राम सेवक पैकरा ने कहा कि इस मामले में पुलिस ने पवन साहू की रिपोर्ट पर धारा 147, 148, 149, 294, 506बी, और 323 के तहत मामला दर्ज किया तथा जांच शुरू की। जांच के दौरान पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया तथा मुचलके पर रिहा कर दिया गया। वहीं इस मामले में छह अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You