हेल्पलाइन पर आया फोन, बेटी खाना नहीं खा रही

  • हेल्पलाइन पर आया फोन, बेटी खाना नहीं खा रही
You Are HereNational
Thursday, February 20, 2014-1:05 PM

भोपाल: मध्यप्रदेश सरकार ने हेल्‍पलाइन सुविधा शुरू की है ताकि अगर किसी महिला को मदद की जरूरत है तो उसकी सहायता के लिए वहां पहुंचा जा सके। राज्य महिला हेल्पलाइन पर एक महिला ने फोन कर कहा, ‘मैडम मेरी बेटी अकसर फोन पर किसी से बात करती रहती थी। गुस्से में मैंने उसका मोबाइल फोन छीनकर रख लिया। इससे नाराज होकर उसने खाना नहीं खाया। मुझे डर लग रहा है कि वह कोई ऐसा-वैसा कदम न उठा ले। महिला ने फोन पर बताया कि उसकी बेटी स्कूल में पढ़ती है, लेकिन वह अकसर रात में अपने दोस्त से फोन पर लगातार बात करती थी। कई बार मना करने पर भी जब वह नहीं मानी तो कल रात उसका फोन छीनकर अपने पास रख लिया।

 

हेल्‍पलाइन प्रभारी सुनीता कार्नेलियस ने बताया कि महिला ने फोन पर उस लड़के का नंबर भी दिया था, जिससे उसकी बेटी बात करती थी।  महिला ने बताया कि उसकी बेटी स्कूल में पढ़ती है, लेकिन वह अकसर रात में अपने दोस्त से फोन पर लगातार बात करती थी। कई बार मना करने पर भी जब वह नहीं मानी तो कल रात उसका फोन छीनकर अपने पास रख लिया। गुस्से में बेटी ने रात में खाना तक नहीं खाया। सुबह बिना बातचीत किए चुपचाप स्कूल चली गई। डर लग रहा है कि बेटी कोई कदम न उठा ले। प्लीज...आप हमारी मदद कीजिए। हेल्‍प लाइन के जरिए उस लड़के से बात की। वह भी नाबालिग स्‍कूली छात्र है। उसे समझाया गया कि यह समय करियर बनाने का कहै। इस उम्र में इस तरह की दोस्‍ती से दोनों का भविष्‍य प्रभावित होगा।

 

फोन पर हुई काउंसलिंग के बाद छात्र ने अपनी दोस्‍त को समझाने और फोन पर बात न करने का भरोसा दिलाया। साथ ही महिला से बेटी का मोबाइल फोन वापस देकर उसे स्‍नेह से समझाने की बात कही गई। इससे महिला संतुष्‍ट हो गई। वहीं प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि हेल्‍पालाइन पर कई बार ऐसी लड़कियों के फोन भी आते हैं जिनकी उम्र 18 वर्ष है और वे आगे पढ़ना चाहती है लेकिन उनके परिवार वालों उनकी शादी करना चाहते हैं। जिस पर उन लड़कियों के परिवार वालों को समझाया जाता है कि पहले लड़की का भविष्य बनाना जरूरी है जिस पर कई माता-पिता तो मान जाते हैं और बच्चियों को स्कूल भेजते हैं। गौरतलब है कि महिलाओं की सुरक्षा और बच्चियों पर हो रहे यौन शोषणों को रोकने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने राज्‍य स्तरीय महिला हेल्प लाइन (1090) पर शुरू की है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You