अग्नि-प्रथम मिसाइल का रात्रि परीक्षण दूसरी बार रद्द

  • अग्नि-प्रथम मिसाइल का रात्रि परीक्षण दूसरी बार रद्द
You Are HereNational
Thursday, February 20, 2014-3:20 PM

भुवनेश्वर: अग्रिन-प्रथम बैलिस्टिक मिसाइल का पहला रात्रि परीक्षण दूसरी बार रद्द हो गया। गुरुवार को एक रक्षा अधिकारी ने यह जानकारी दी। रणनीतिक बल कमान द्वारा मिसाइल का पहला रात्रि परीक्षण मंगलवार को राजधानी भुवनेश्वर से 170 किलोमीटर की दूरी पर स्थित भद्रक जिले के धमरा के पास व्हीलर द्वीप पर होना था।

लेकिन कुछ तकनीकी खराबियों के चलते इसे एक दिन के लिए रोका गया था। इसके बाद फिर से खराबी के कारण इसे अनिश्चितकाल के लिए रद्द कर दिया गया।

अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, ‘‘खराबियों का विश्लेषण किया जाएगा। अगली लांचिंग का फैसला बाद में होगा। इसमें थोड़ा समय लग सकता है क्योंकि अभी और मिशन भी हैं। निर्धारित मिशनों को खत्म करने के बाद हम इस पर वापस आएंगे।’’

अग्नि मिसाइल, भारत की पहली स्वदेश विकसित मिसाइल पृथ्वी का संवर्धित रूप है। यह सेना में पहले से ही शामिल है। अग्नि का पहला परीक्षण इसी स्थान पर 25 जनवरी  2002 को हुआ था। इसके प्रौद्योगिकीय मानकों की फिर से पुष्टि के लिए पहली बार इसका रात्रि परीक्षण करने की योजना बनाई गई थी।

अधिकारी ने बताया कि अगले पखवाड़े में भुवनेश्वर से 230 किलोमीटर की दूरी पर स्थित चांदीपुर के एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) से मध्यम क्षमता की आकाश मिसाइल के कई परीक्षणों की तैयारियां चल रही हैं। उन्होंन बताया कि एक परीक्षण शुक्रवार को होने की संभावना है।

देश में ही विकसित 700 किलोग्राम की आकास मिसाइल, हर मौसम में सतह से हवा में मार कर सकती है, इसकी सीमा 27 किलोमीटर है और यह 60 किलोग्राम भार का बम उठा सकती है। यह 2.5 माश की गति से ऊपर उड़ सकती है और 18 किलोमीटर की ऊंचाई तक चढ़ सकती है। यह स्थायी और गतिमान, दोनों प्लेटफॉर्मों से लांच की जा सकती हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You