बिहार को विशेष पैकेज नहीं मिलने के लिए JDU जिम्मेवार: भाजपा

  • बिहार को विशेष पैकेज नहीं मिलने के लिए JDU जिम्मेवार: भाजपा
You Are HereNational
Friday, February 21, 2014-3:22 PM

पटना: बिहार की मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा और विशेष पैकेज नहीं दिये जाने के लिए सत्तारुढ जनतादल यूनाइटेड (जदयू) को जिम्मेवार ठहराया और कहा कि यदि मजबूती के साथ पहल की गयी होती तो सीमान्ध्र से पहले राज्य को यह लाभ मिल जाता। 

विधान परिषद में आज सदन की कार्यवाही शुरु होने के साथ ही भाजपा के वैद्यनाथ प्रसाद ने कार्यस्थगन प्रस्ताव के जरिये बिहार को विशेष राज्य का दर्जा और पैकेज नहीं दिये जाने का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि सीमान्ध्र को विशेष राज्य का दर्जा के साथ ही अन्य सुविधाएं दे दी गयी, लेकिन बिहार इससे अभी भी वंचित है। प्रतिपक्ष के नेता सुशील कुमार मोदी ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि केन्द्र ने बिहार के साथ भेदभाव किया गया है, सीमान्ध्र को विशेष राज्य का दर्जा दे दिया गया जबकि बिहार इस मामले को लेकर लगातार संघर्ष करता रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री और जद यू के वरिष्ठ नेता नीतीश कुमार ने यदि इमानदारी पूर्वक पहल की होती तो बिहार को इसका लाभ मिल गया होता।


मोदी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इसका जवाब देना चाहिए। उन्होंने कहा कि विधानमंडल के दोनों सदनों से इस संबंध में एक प्रस्ताव पारित किया गया था.लेकिन सत्तापक्ष ने अपने राजनीतिक लाभ के लिए विशेष राज्य के मुद्दे की लड़ायी को .अपहृत.. कर लिया जिसके कारण यह लड़ाई बिहार के बदले एक राजनीतिक दल का मुद्दा बनकर रह गया। 

प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री और जद यू के नेता नीतीश कुमार को चाहिए कि सभी दलों को मिलाकर इस लड़ायी को आगे ले जायें। इस लड़ायी को एक दल का मुद्दा बनाने से पहले सर्वदलीय मुद्दा बनाना चाहिए था। यदि कुमार इस मुद्दे पर सभी दलों को साथ लेकर चलते तो केन्द्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंध  (संप्रग) सरकार बिहार के साथ छल करने की हिम्मत नहीं जुटा पाती। इसके लिए कुमार सीधे तौर पर जिम्मेवार हैं।

मोदी ने कहा कि कुमार दलगत भावना से उपर उठकर अभी भी सर्वदलीय बैठक कर इस मुद्दे पर नेतृत्व करें और प्रधानमंत्री से मिलें तो उनकी पार्टी इसके लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि यदि  प्रधानमंत्री कार्यालय से समय नहीं मिलता है तो सभी दल के लोग कुमार के नेतृत्व में दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना देने को भी तैयार है। हालांकि उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सहयोग से अपनी सरकार चला रहे कुमार में इतनी हिम्मत नहीं है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You