रद्द हो ‘आप’ का पंजीकरण, चुनाव लडऩे पर लगे रोक

  • रद्द हो ‘आप’ का पंजीकरण, चुनाव लडऩे पर लगे रोक
You Are HereNational
Friday, February 21, 2014-10:24 PM

नई दिल्ली: दिल्ली उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर कर भारत निर्वाचन आयोग को आम आदमी पार्टी का पंजीकरण रद्द करने का निर्देश देने की मांग की गई है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि ‘आप’ ने खुद को पंजीकृत कराने के लिए फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया। याचिका में यह मांंग भी की गई है कि मामले के निपटारे तक ‘आप’ को आगामी लोकसभा चुनाव लडऩे से रोकने का आदेश भी पारित किया जाए।

हंस राज जैन नाम के याचिकाकर्त्ता ने राजनीतिक दल के तौर पर निर्वाचन आयोग में पंजीकरण के लिए ‘आप’ द्वारा दस्तावेजों की कथित जालसाजी और फर्जीवाड़े की जांच एसआईटी से कराने की मांग भी की। पूर्व दिल्ली से 1989 और 1991 में लोकसभा चुनाव लडऩे का दावा करने वाले जैन ने आरोप लगाया है कि ‘‘निर्वाचन आयोग ने उचित जांच-पड़ताल किए बगैर जल्दबाजी में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर ‘आप’ के पंजीकरण की इजाजत दी।’’

जैन ने आरोप लगाया कि ‘‘किसी प्रलोभन या किसी दबाव में आकर आयोग ने पक्षपात किया’’ क्योंकि किसी अन्य राजनीतिक दल का पंजीकरण इतने कम समय में नहीं हो सका है। याचिकाकर्त्ता ने आरोप लगाया कि ‘आप’ के कुछ सदस्यों द्वारा दायर हलफनामे में दिए गए आवासीय पते में गड़बडिय़ां हैं क्योंकि उन्होंने अपने मतदाता पहचान-पत्र या आयकर रिटर्न में कोई और पता दे रखा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You