मंत्रियों की नेम प्लेट हटाई

  • मंत्रियों की नेम प्लेट हटाई
You Are HereNational
Saturday, February 22, 2014-12:54 AM
नई दिल्ली(ताहिर सिद्दीकी): अरविंद केजरीवाल के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिए जाने के बाद दिल्ली सचिवालय में गत् एक सप्ताह से खाली पड़े मंत्रियों के फ्लैटनुमा कार्यालयों को शुक्रवार को सील कर दिया गया।
 
साथ ही नेम प्लेट भी हटा दी गई हैं। बंगलानुमा मुख्यमंत्री कार्यालय को सील तो नहीं किया गया बल्कि उस पर ताला जड़ दिया गया है। इसी के साथ मुख्यमंत्री व मंत्रियों के कार्यालयों से जुड़े कर्मचारियों को उनके मूल विभागों में भेजने की तैयारी कर ली गई है।
 
इस बीच मुख्य सचिव एस.के.श्रीवास्तव ने सामान्य प्रशासन विभाग (जी.ए.डी.)को पत्र लिखकर मंत्रियों के खाली पड़े कार्यालयों को लेकर उचित कदम उठाने के निर्देश दिए। इसी के बाद शुक्रवार को सुबह 10-11 के बीच जीएडी ने मंत्रियों के सूने पड़े कार्यालयों को सील करने की कार्रवाई की है।
 
ऑफिसों के मुख्य दरवाजे पर जी.ए.डी. अधिकारी के हस्ताक्षर युक्त सील चस्पां कर दिए गए हैं। सचिवालय के छठवें मंजिल पर बैठने वाले केजरीवाल सरकार में सैकेंड कमांड इन चीफ रहे मनीष सिसोदिया व श्रम व रोजगार मंत्री रहे गिरीश सोनी के ऑफिसों को सबसे पहले सील किया गया। 
 

सील की कार्रवाई के बाद इनके नाम की प्लेटें भी उखाड़ दी गई। छठवें मंजिल के बाद जी.डी.ए. का दस्ता 7वें मंजिल पर पहुंचा। इस तल पर केजरीवाल सरकार के विवादित मंत्री सोमनाथ भारती व स्वास्थ मंत्री सत्येंद्र जैन बैठते थे। मुख्यमंत्री का ऑफिस कब सील किया जाएगा इस सवाल का जवाब नहीं दिया। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You