कांग्रेस कार्यकत्र्ताओं का जयललिता के खिलाफ प्रदर्शन

  • कांग्रेस कार्यकत्र्ताओं का जयललिता के खिलाफ प्रदर्शन
You Are HereNational
Saturday, February 22, 2014-1:05 AM
नई दिल्ली : राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई करने के जयललिता सरकार के अलोकतांत्रिक फैसले के खिलाफ  कांग्रेस कार्यकत्र्ताओं ने शुक्रवार को तमिलनाडु भवन जाने के दौरान चाणक्यपुरी थाने के सामने प्रदर्शन किया।
 
कांग्रेसी कार्यकत्र्ताओं को पुलिस ने तमिलनाडु भवन से आगे बढऩे से रोक दिया। इसके विरोध में कार्यकत्र्ताओं ने प्रदर्शन कर गिरफ्तारियां दीं लेकिन कुछ देर बाद ही सभी को रिहा कर दिया गया, जबकि एन.एस.यू.आई. कार्यकत्र्ताओं ने तमिलनाडु भवन तक पहुंच गए और प्रदर्शन  किया।
 
प्रदर्शनकारियों को नेतृत्व प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली, कांग्रेस विधायक दल के नेता हारुन यूसुफ और पूर्व विधायक मुकेश शर्मा ने किया। प्रदर्शन करने वालों में सांसद रमेश कुमार, महाबल मिश्रा, विधायक आसिफ मोहम्मद खान, देवेन्द्र यादव के अलावा दिल्ली के पूर्व मंत्री रमाकांत गोस्वामी और जगप्रवेश कुमार आदि भी शामिल थे।
 
प्रदर्शनकारी दोपहर में चाणक्यपुरी थाने पहुंचे, जहां राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई के नाम पर राजनीति करना बंद करो और जयललिता विरोधी नारे लगा रहे थे। चाणक्यपुरी थाने के सामने इक_ा हुए कार्यकत्र्ता सड़क पर लगे पुलिस के अवरोधक हटाकर तमिलनाडु भवन की ओर आगे बढ़े और जमीन पर ही बैठकर नारेबाजी करने लगे। इस पर पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। 
 
इससे पूर्व प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए अरविन्दर सिंह लवली, हारुन यूसुफ  और मुकेश शर्मा ने कहा कि जयललिता द्वारा राजीव गांधी के हत्यारों को छोड़े जाने का फैसला न केवल दुर्भाग्यपूर्ण है बल्कि भारत में राजनीतिक दलों व सरकारों के आतंकवाद पर दोहरे मांपदंड का सुबूत है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You