...जब संसद में रो पड़े अडवानी

  • ...जब संसद में रो पड़े अडवानी
You Are HereNational
Saturday, February 22, 2014-10:12 AM

नर्इ दिल्ली: भाजपा के लाल कृष्ण अडवानी 15वीं लोकसभा के अंतिम सत्र के अंतिम दिन कई बार भावुक हो गए और उनकी आंखों में आंसू भर आए।

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने आखिरी बैठक में कामना की कि संसद की कीर्ति एवं उपलब्धियां हिमालय जैसी ऊंची और भावनाएं एवं संवेदनाएं हिंद महासागर से गहरी हों। उधर सुषमा स्वराज ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र का मूल भाव यह है कि विभिन्न राजनीतिक दल एक-दूसरे के विरोधी हैं लेकिन शत्रु नहीं।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You