गुजरात के चलते पूरा पाकिस्तान परेशान और कांग्रेस के चलते असम बेहाल: मोदी

  • गुजरात के चलते पूरा पाकिस्तान परेशान और कांग्रेस के चलते असम बेहाल: मोदी
You Are HereNational
Saturday, February 22, 2014-6:04 PM

सिल्चर: भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी आज अपने मिशन के तहत उत्तर पूर्व के दौरे पर तीन रैलियों को संबोधित करने निकले। मोदी ने सबसे पहले अरुणाचल में रैली को संबोधित किया और फिर असम में।

- त्रिपुरा रैली: त्रिपुरा के लोगों के लिए बांग्‍लादेशी का मुद्दा अहम

त्रिपुरा की रैली में नरेंद्र मोदी ने कहा कि लेफ्ट की सरकार लोगों के हित में नहीं है। त्रिपुरा के लोगों के लिए बांग्‍लादेशी का मुद्दा अहम है। मोदी ने कहा कि त्रिपुरा घुसपैठ के लिए सेफ कॉरिडोर बन गया है।

- असम रैली: दुनिया की कोई भी ताकत भारत से अरूणाचल प्रदेश को नहीं छीन सकती

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि बांग्लादेश से आये हिन्दू विस्थापितों को देश में शामिल किया जाना चाहिए तथा जैसे ही उनकी पार्टी सत्ता में आयी तो इनके शिविरों (डिटेंशन कैंप) को खत्म कर दिया जायेगा। मोदी ने यहां रामनगर में एक रैली में कहा, ‘‘जैसे ही हम केन्द्र में सत्ता में आयेंगे बांग्लादेश से आये हिन्दुओं को रखने के डिटेंशन कैंप को बंद कर दिया जायेगा।’’  उन्होंने कहा, ‘‘हमारी हिन्दुओं के प्रति जिम्मेदारी है जिन्हें अन्य देशों में परेशान एवं उत्पीड़त किया गया है। वे कहां जायेंगे। उनके लिए भारत ही एकमात्र देश है। हमारी सरकार उन्हें परेशान करना जारी नहीं रख सकती। हमें उन्हें यहां समायोजित करना ही पड़ेगा।’’

गुजरात के मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका यह मतलब नहीं होगा कि असम को पूरा बोझ उठाना पड़ेगा। ‘‘यह उनके साथ अनुचित होगा तथा उन्हें देश भर में बसाया जायेगा। उन्हें नया जीवन शुरू करने की सुविधा दी जायेगी।’’उन्होंने असम की कांगे्रस नीत सरकार को वोट बैंक राजनीति में शामिल होने के लिए आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि राज्य के लोग समस्या में पड़ गये क्योंकि सरकार बांग्लादेश से घुसपैठ को रोकने में विफल रही है। मोदी ने कहा, ‘‘असम बांग्लादेश के समीप है जबकि गुजरात पाकिस्तान के करीब। असम के लोगों को बांग्लादेश के कारण समस्या हो रही है जबकि पाकिस्तान मेरे कारण चिंतित है।’’

- अरुणाचल रैली: अरुणाचल से होगा विकास का सूर्योदय

भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आज चीन से विस्तारवादी नीति छोडने की अपील करते हुए कहा कि देश के विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए। राज्य के सर्वाधिक पुराने शहर पासीघाट में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि दुनिया भर के लोग चीन सरकार की विस्तारवादी नीति को स्वीकार नहीं करेंगे। गुजरात के मुख्यमंत्री ने कहा कि तीन देशों के साथ सीमाएं लगने के कारण भौगोलिक दृष्टि से अरूणाचल प्रदेश बहुत संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित  करते हुए देश की सुरक्षा के लिए बहुत सारे कदम उठाने की जरूरत है। अरूणाचल प्रदेश का प्रत्येक नागरिक एक सैनिक है।

मोदी ने कहा कि अरूणाचल प्रदेश के लोगों की और उनकी जमीन की सुरक्षा हर कीमत पर की जाएगी और राज्य का विभाजन नहीं होने दिया जाएगा। वर्ष 1962 के भारत-चीन युद्ध का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उस समय अरूणाचल प्रदेश के लोगों ने चीन का बेहतर सबक सिखाया था और वे चीन के आक्रमण के खिलाफ एकजुटता के साथ खडे हो गए थे। मोदी ने करगिल युद्ध का उल्लेख करते हुए कहा कि इस दौरान अरूणाचल प्रदेश के लोगों ने असाधारण वीरता दिखाते हुए बलिदान दिया था। मोदी की यह एक पखवाडे के भीतर पूर्वोत्तर की दूसरी यात्रा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You