देश नाकाम विचार बर्दाश्त नहीं कर सकता: जेटली

  • देश नाकाम विचार बर्दाश्त नहीं कर सकता: जेटली
You Are HereNational
Saturday, February 22, 2014-4:32 PM

नई दिल्ली: कांग्रेस और भाजपा विरोधी कुछ दलों के एकजुट हो कर नया मोर्चा बनाने के चल रहे प्रयासों के बीच मुख्य विपक्षी दल ने आज कहा कि वाम और क्षेत्रीय दलों का ‘‘तीसरे मोर्चे’’ का प्रयास पहले ही ऐसा ‘‘विफल विचार’’ साबित हो चुका है जिसे देश वहन करने की स्थिति में नहीं है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता अरूण जेटली ने यहां कहा, देश विफल विचारों के प्रयोग की विलासिता को वहन नहीं कर सकता है। वाम दलों, जदयू, सपा और बीजद आदि पार्टियों के एक साथ आने के प्रयासों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने यह बात कही। जेटली ने कहा कि तीसरा मोर्चा एक नाकाम विचार है और देश नाकाम विचार बर्दाश्त नहीं कर सकता। जे

तीसरे मोर्चे का अभी औपचारिक गठन या उसकी घोषणा नहीं हुई है लेकिन सपा नेता मुलायम सिंह यादव, जदयू के नीतीश कुमार, जदएस के एच डी देवेगौड़ा और वाम दलों के नेताओं के बीच इसे लेकर चर्चा चल रही है। इन नेताओं ने भाजपा एवं कांग्रेस विरोधी गठबंधन बनाने का प्रस्ताव किया है।

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने अपनी सभाओं में तीसरा मोर्चा बनाने के इन दलों के प्रयासों की आलोचना करते हुए कहा है कि ऐसा मोर्चा अंतत: हमेशा कांग्रेस का मददगार साबित होता है। उन्होंने यह भी कहा था कि ‘‘थर्ड फ्रंट देश को थर्ड रेट’ बना देगा। उनके इस बयान की वाम दलों ने कड़ी आलोचना की थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You