शिक्षकों को भी मिलेगा वोट डालने का अवसर

  • शिक्षकों को भी मिलेगा वोट डालने का अवसर
You Are HereNational
Sunday, February 23, 2014-1:11 AM
नई दिल्ली : सरकारी स्कूलों के शिक्षक अब लोकसभा चुनाव में भी वोट डाल सकेंगे। शिक्षकों को वोट डालने का अवसर तो मिलेगा ही साथ ही उन्हें चुनाव में ड्यूटी करने के बाद इलेक्शन ड्यूटी सॢटफिकेट भी दिया जाएगा। चुनाव आयोग ने शिक्षकों के वोट डालने के लिए पोस्टल बैलेट पेपर की सुविधा उपलब्ध करवाने का फैसला किया है। 
 
इसी सुविधा के उपलब्ध होने से पिछले साल दिल्ली में हुए विधान सभा चुनाव 2013 में भी चुनाव में ड्यूटी कर रहे शिक्षक वोट डाल सके थे। आयोग ने पहली बार शिक्षकों के लिए पोस्टल बैलेट पेपर की सुविधा दी थी, जबकि इससे पहले चुनाव में ड्यूटी लगने के कारण शिक्षक अपने मत का इस्तेमाल नहीं कर पाते थे। 
 
शिक्षकों के लिए इस सुविधा को शुरू करने और भविष्य में आगे भी इसे जारी रखने के पीछे आयोग का तर्क है कि चुनाव में वोट प्रतिशत को बढ़ाया जा सके और वोट डालने से वंचित रह जाने वाले शिक्षकों को उनके मताधिकार का हक देना आयोग की जिम्मेदारी है। पिछले साल राजधानी में 4 दिसम्बर को विधानसभा चुनाव हुए थे और 8 दिसम्बर को मतों की गिनती की गई थी।
 
आयोग इस बार भी ऐसी व्यवस्था करने जा रहा है जिससे चुनाव के दौरान पोङ्क्षलग बूथ में मौजूद अधिकारी और कर्मचारी भी अपना वोट डाल पाएंगे। इससे पहले अधिकारी और कर्मचारियों को ड्यूटी की व्यस्तता के चलते अपना मत डालने का समय नहीं मिलता था। मिली जानकारी के मुताबिक इस साल लोक सभा चुनाव में दिल्ली के जिन सरकारी स्कूलों के शिक्षकों की ड्यूटी वोटिंग वाले दिन लगाई जाएगी, उनके लिए आयोग अलग से इलैक्शन ड्यूटी सॢटफिकेट जारी करेगा।
 
आयोग द्वारा की जा रही इस नई व्यवस्था से शिक्षक खुश हैं। शिक्षकों का कहना है कि पोङ्क्षलग बूथ पर ड्यूटी लगा देने से उन्हें सारा समय वहीं देना पड़ता था और वे वोट डालने से वंचित रह जाते हैं। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You