हवाई जहाजों के शोर से कुतुबमीनार को खतरा

  • हवाई जहाजों के शोर से कुतुबमीनार को खतरा
You Are HereNational
Sunday, February 23, 2014-11:09 PM
नई दिल्ली : कुतुबमीनार के ऊपर गुजरने वाले हवाई जहाजों के अत्यधिक शोर से होने वाले कंपन से विश्व धरोहर कुतुबमीनार को खतरा है।  भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) के विशेषज्ञों का कहना है कि ऊपर से गुजर रहे हवाई जहाजों से कुतुब मीनार को खतरा हो सकता है।
 
इस मसले पर  एएसआइ के दिल्ली मंडल ने नागरिक उड्डयन के महानिदेशक (डीजीसीए) को पत्र लिखा है। जिसमें कहा गया है कि दो साल पहले हवाई जहाजों को कुतुबमीनार के बिल्कुल ऊपर से नहीं गुजारे जाने की बात कही गई थी, लेकिन फिर से जहाज वहां से गुजर रहे हैं। जिससे कुतुब मीनार को खतरा हो सकता है।
 
गौरतलब है कि इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय (आइजीआइ) हवाई अड्डे पर से कुतुब मीनार के ऊपर से सामान्य रूप से 2 से 3 मिनट में एक हवाई जहाज गुजरता है। शाम के समय जहाजों की संख्या और बढ़ जाती है। शाम 6 से रात 11 बजे तक 1 से डेढ़ मिनट में एक हवाई जहाज कुतुब मीनार के ऊपर से गुजरता है।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You