दलित नेता उदित राज BJP में हुए शामिल

  • दलित नेता उदित राज BJP में हुए शामिल
You Are HereNational
Monday, February 24, 2014-3:58 PM

नई दिल्ली: दलित चिंतक और इंडियन जस्टिस पार्टी के अध्यक्ष डा. उदित राज आज अपने समर्थकों के साथ भारतीय जनता
पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए और इसके साथ ही उनकी पार्टी का भाजपा में विलय हो गया। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने यहां पार्टी के मुख्यालय में डा. उदित राज को पार्टी की सदस्यता देने के साथ-साथ उन्हें राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि डा. उदित राज को राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाकर वह एक संकेत देना चाह रहे हैं।

 

उन्होंने कहा कि भाजपा हमेशा दलितों और पिछड़ों को साथ लेकर चली है। उसका मानना है कि यदि समाज का एक वर्ग भी पीछे रह जाता है तो राष्ट्र सशक्त नहीं बन सकता। उन्होंने कहा कि भाजपा के शब्दकोश में अछूत शब्द नहीं है और पार्टी बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती के दिन 14 अप्रैल को सामाजिक समरसता दिवस के रूप में मनाती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा इस समुदाय को वोट बैंक की तरह माना है जबकि भाजपा किसी भी समुदाय के लोगों को वोट नहीं बल्कि उन्हें इंसान मानती है।

 

भाजपा सामाजिक, आर्थिक और समानता का नारा देती है वहीं कांग्रेस के राज में सामाजिक आर्थिक विषमता बढ़ी है। डा. उदित राज ने कहा कि वह देश भर में घूमकर भाजपा के बारे में जो भ्रांति है उसे दूर करेंगे तथा दलित और आदिवासी समाज को पार्टी के साथ जोडेंग़े। उन्होंने कहा कि इस देश में ज्यादातर समय तक कांग्रेस ने ही राज किया है और इसलिए भुखमरी, गरीबी और असमानता के लिए वही जिम्मेदार है। भाजपा को इन गड़बडिय़ों को दूर करने के लिए पर्याप्त मौका नहीं मिला है।

 

उन्होंने कहा कि दलित और आदिवासी समाज के भाजपा के साथ जुडऩे से देश में परिवर्तन का युग शुरू होगा। इस मौके पर भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष डा. संजय पासवान, पूर्व केन्द्रीय सत्य नारायण जटिया, भाजपा महासचिव थावरचंद गहलोत और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता विजय सोनकर शास्त्री भी मौजूद थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You