गजब: कब्रिस्तान में बसाए जा रहे हैं घर

  • गजब: कब्रिस्तान में बसाए जा रहे हैं घर
You Are HereNational
Monday, February 24, 2014-12:07 PM

जयपुर: कब्रिस्तान जैसे अतिसंवेदनशील मुद्दे पर कई बार राज्य में माहौल खराब होने के बावजूद पुलिस गंभीर नहीं है। ऐसे में लगता है कि पुलिस शायद माहौल खराब होने का इंतजार कर रही है। इस दौरान कार्रवाई के नाम पर सिर्फ लीपापोती की जाती है जबकि जिला कलैक्टर और पुलिस अधीक्षक मामले की गंभीरता को देखते हुए समय-समय पर कार्रवाई करने का दावा करते हैं। ऐसा ही कुछ मेवात इलाके के अलवर में हो रहा है। जहां स्टे के बावजूद कुछ बाहुबलियों ने कब्रिस्तान की जमीन पर पुलिस की शह से मकान खड़ा कर दिया है।

मामला अलवर जिले के मालाखेड़ा थानान्तर्गत गांव भड़कोल का है। जहां पर कब्रिस्तान की करीब 10 बीघा जमीन है जिसमें वर्षों से स्थानीय मुस्लिम परिवार अपने मृत परिजनों के शव दफनाते हैं लेकिन उसके बावजूद दबंगों में शुमार गांव के ही समस मेव, सुमेर मेव, आजाद मेव ने कब्रिस्तान की जमीन पर कब्जा करते हुए मकान बनाना शुरू कर दिया।

जैसे ही ग्रामीणों को पता चला उन्होंने अपने स्तर पर इसका विरोध करते हुए अतिक्रमण रोकने की कार्रवाई शुरू की लेकिन कब्जाधारियों ने कब्जा हटाने से मना कर दिया। इस पर पीड़ित ग्रामीण थाने पहुंचे लेकिन वहां भी इंसाफ नहीं मिला, उल्टे पुलिसकर्मियों ने उन पर ही आरोप लगाते हुए उन्हें थाने में बंद करने की धमकी देकर भगा दिया।

इस प्रकरण में कोर्ट ने स्टे दे दिया लेकिन उसके बावजूद काम नहीं रुका। इस दौरान पीड़ित लोग जिला कलैक्टर से मिले फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। कब्जाधारियों ने कब्रिस्तान में मकान बना लिए लेकिन आज तक मालाखेड़ा थाना पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। पुलिसकर्मियों की इन कारगुजारियों से आहत ग्राम वासियों ने पुलिस अधीक्षक विकास कुमार से मिलकर पूरे प्रकरण की जानकारी दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You