महिलाकर्मी हत्या मामले की जांच अपराध शाखा से हो: जयललिता

  • महिलाकर्मी हत्या मामले की जांच अपराध शाखा से हो: जयललिता
You Are HereNational
Monday, February 24, 2014-4:22 PM

चेन्नई: तमिलनाडु सरकार ने उमा माहेश्वरी आईटी कर्मी हत्या मामले की जांच राज्य गुप्तचर विभाग की अपराध शाखा से कराने का फैसला किया है। इस महिला का शव 22 फरवरी को सिरुसेरी स्थित उसके दफ्तर के बाहर झाडिय़ों में मिला था।

पुलिस महानिर्देशक के. रामानुजम ने घटनास्थल का दौरा करने के बाद बताया कि मुख्यमंत्री जयललिता ने इस मामले की जांच अपराध शाखा से कराने के आदेश दिए हैं।
 
उन्होंने कहा कि गत 13 फरवरी को केलमबक्कम पुलिस थाने में 23 वर्षीय माहेश्वरी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। हत्यारों को पकड़वाने या उनका सुराग देने वालों को दो लाख रुपए तक के इनाम की भी घोषणा की गई है।
 
सिरुसेरी आईटी पार्क स्थित टीसीएस में कार्यरत माहेश्वरी का शव ओल्ड महाबलीपुरम रोड पर झाडिय़ों में क्षतविक्षत अवस्था में पाया गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला से किसी प्रकार की यौन हिंसा से इंकार किया गया है।
 
दिसंबर में सभी आईटी कंपनियों को पुलिस के साथ बैठक में रात के समय महिलाकर्मियों की सुरक्षा का उचित प्रबंध करने की बात कही गई थी। फिलहाल केलमबक्कम थाना के निरीक्षक एम सुबैया को गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद जांच में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है।
   


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You