संघीय मोर्चा के पास कांग्रेस, भाजपा से ज्यादा वोट: यादव

  • संघीय मोर्चा के पास कांग्रेस, भाजपा से ज्यादा वोट: यादव
You Are HereNational
Tuesday, February 25, 2014-1:58 AM

नई दिल्ली: जनता दल-युनाइटेड (जदयू) के अध्यक्ष शरद यादव ने कहा है कि समाजवादी पार्टी (सपा), जदयू, और एआईएडीएमके सहित 11 क्षेत्रीय दलों के ‘संघीय मोर्चे’ की भौगोलिक रूप से पहुंच और मत हिस्सेदारी कांग्रेस और भाजपा के मुकाबले कहीं ज्यादा है। उन्होंने दावा किया कि लोकसभा चुनाव के बाद यही मोर्चा केंद्र में अगली सरकार बनाएगा।

यादव ने कहा कि संयुक्त मोर्चा ‘प्रथम मोर्चा’ है न कि ‘तीसरा मोर्चा’ जैसा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) में शामिल दल इसे आम तौर पर मीडिया में उल्लेखित करते रहते हैं। यादव ने 11 दलों के एकजुट होने को ‘संघीय मोर्चा’ कहा और दावा किया कि इसे मतदाताओं के बड़े वर्ग का समर्थन हासिल है।

अपने आवास पर आईएएनएस के साथ बातचीत में यादव ने कहा, ‘‘अगली सरकार इसी मोर्चे की बनने वाली है। केवल उसी के बाद लोकतंत्र और संविधान बच सकेगा। कांग्रेस या भाजपा नीत गठबंधनों के मुकाबले इस मोर्चा में ज्यादा लोग हैं। हमारे पास भौगोलिक दायरा भी बड़ा है।’’ सपा, जदयू और एआईएडीएमके के अलावा असम गण परिषद, झारखंड विकास मोर्चा, जनता दल (सेक्युलर), बीजू जनता दल और चार वामपंथी दल शामिल हैं। सभी दलों की 5 फरवरी को एक बैठक हुई थी जिसमें 21 फरवरी को समाप्त हुए संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान सौंध रणनीति पर विचार किया गया था।

मोर्चे में माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, रेव्युलिशनरी सोसलिस्ट पार्टी और फारवर्ड ब्लॉक भी शामिल हैं। वामपंथी दलों की 25 फरवरी को होने वाली बैठक के बाद कांग्रेस और भाजपा का विकल्प पेश करने की संभावना है। यादव ने कहा कि मोर्चे की 11 पार्टियां अपने प्रभाव वाले क्षेत्रों में अपने दम पर चुनाव लड़ेंगी और सीटों का तालमेल हो सकता है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You